Oct 23, 2018

पुरानी पेंशन के लिए केंद्र को प्रस्ताव भेजेगी राज्य सरकार, हड़ताल को लेकर अड़े कर्मचारी नेताओं को मुख्य सचिव ने दिया आश्वासन: कर्मचारी नेता सरकार के इस वादे से संतुष्ट नहीं, आज फिर होगी वार्ता


लखनऊ : पुरानी पेंशन के लिए राज्य कर्मचारियों और शिक्षकों की एकजुटता देखते हुए राज्य सरकार अब नरम रुख पर आ गई है। मुख्य सचिव अनूप चंद्र पांडेय ने नई पेंशन को केंद्र सरकार की योजना ठहराते हुए कर्मचारी नेताओं को भरोसा दिया है कि राज्य सरकार उनकी मांग पर सकारात्मक रुख अपनाते हुए इस आशय का प्रस्ताव केंद्र सरकार को भेजेगी।1हालांकि कर्मचारी, शिक्षक व अधिकारी पुरानी पेंशन बहाली मंच के नेता इससे संतुष्ट नहीं हैं। यही वजह है कि सोमवार को मुख्य सचिव के साथ डेढ़ घंटे की वार्ता के बाद बातचीत का यह क्रम मंगलवार की सुबह साढ़े दस बजे से फिर शुरू होगा। मंच के नेता पुरानी पेंशन योजना बहाल करने को राज्य सरकार का विषय मानते हुए 25 से 27 अक्टूबर तक की तीन दिन की हड़ताल के फैसले पर दृढ़ हैं। सोमवार को कृषि उत्पादन आयुक्त और पेंशन निदेशक के साथ वित्त तथा कार्मिक विभाग के शीर्ष अधिकारियों की मौजूदगी में कर्मचारी नेताओं के साथ वार्ता में मुख्य सचिव ने पुरानी पेंशन योजना बहाली को नेशनल सिक्योरिटीज डिपॉजिटरी लिमिटेड (एनएसडीएल) से संबंधित बताया। 1वार्ता के दौरान कर्मचारी नेताओं ने आरटीआइ के जवाब सहित कई अन्य तथ्यों के हवाले से प्रदेश में नई या पुरानी पेंशन योजना संचालित करने को राज्य सरकार का अधिकार क्षेत्र बताया। इस पर मुख्य सचिव ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से इस विषय पर परामर्श करने का आश्वासन देने के साथ ही वित्त व कार्मिक विभाग के अधिकारियों और पेंशन निदेशक को मंगलवार तक यह बताने का निर्देश दिया कि इस मामले में राज्य के स्तर से क्या हो सकता है और क्या बातें केंद्र से तय कराई जा सकती हैं। मंगलवार को इसे लेकर कोई प्रस्ताव भी तैयार हो सकता है कि कर्मचारियों की मांग पूरी करने के लिए कौन सा रास्ता अपनाया जा सकता है।

प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु महत्वपूर्ण नोट्स और वीडियो