🔎Search Me

Oct 5, 2018

एक परिणाम भारी, अक्टूबर में चार की कर रहे हैं तैयारी: खाली पदों को जल्द भरने की राज्य सरकार की मंशा को आयोग लगा रहा पलीता


इलाहाबाद : खाली पदों को जल्द भरने की राज्य सरकार की मंशा को यूपीपीएससी यानि उप्र लोकसेवा आयोग पलीता लगा रहा है। केवल एक परीक्षा पीसीएस मेंस 2016 का परिणाम देने में यूपीपीएससी के अब तक सभी दावे कोरे साबित हुए, जबकि अक्टूबर में एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती 2018 समेत चार बड़ी परीक्षाओं के परिणाम को उच्च प्राथमिकता में बताया गया है। यूपीपीएससी का यह नया दावा तब है जब पांच महीने पहले हुई आरओ-एआरओ भर्ती 2017, की प्रारंभिक परीक्षा में अभी तक आपत्ति भी नहीं मांगी गई है।1राजकीय माध्यमिक कालेजों में एलटी ग्रेड शिक्षकों के 10768 पदों पर 29 जुलाई को लिखित परीक्षा कराई तो यूपीपीएससी ने लेकिन, प्रदेश शासन ने इसे सर्वोच्च प्राथमिकता देते हुए रिजल्ट भी जल्द दिए जाने की घोषणा की थी। शिक्षकों के खाली पद भरने की हर संभव कोशिश में जुटी योगी सरकार के इस फैसले से अभ्यर्थियों में ऊर्जा का नया संचार हुआ। कुछ ऐसी ही उम्मीदें यूपीपीएससी ने पीसीएस मेंस 2016 का रिजल्ट सितंबर में ही जारी करने का वादा कर अभ्यर्थियों के मन में जगा दीं। लेकिन, परिणाम में लेटलतीफी के अपने पुराने रवैये से परीक्षा संस्था उबर नहीं पाई और परिणाम अब भी अधर में है।1समीक्षा अधिकारी-सहायक समीक्षा अधिकारी के रिक्त पदों पर भर्ती के लिए 2017 की हुई प्रारंभिक परीक्षा का परिणाम जारी होने की बात दूर है, यूपीपीएससी ने अभी इस पर अभ्यर्थियों से आपत्ति भी नहीं मांगी है। परीक्षा आठ अप्रैल को हुई थी। दो साल पहले सम्मिलित राज्य अभियंत्रण सेवा के तहत एई और जेई के चार हजार से अधिक पदों का परिणाम भी लंबित कर यूपीपीएससी ने अभ्यर्थियों को अब तक ऊहापोह में रखा है। इसमें अभियंत्रण सेवा के परिणाम में तकनीकी दिक्कतों का बहाना बनाकर अभ्यर्थियों को गुमराह किया जाता रहा जो अब भी जारी है। अक्टूबर में इन चारों परीक्षाओं के परिणाम की तैयारी का यूपीपीएससी ने नया दावा किया है। कहा गया है कि पीसीएस मेंस 2016 का परिणाम अक्टूबर मध्य तक दिया जाएगा उसके बाद अन्य परिणाम भी तेजी से जारी होंगे।

प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु महत्वपूर्ण नोट्स और वीडियो