🔎Search

Oct 26, 2018

मी-टू में फंसे प्रबंधक, शिक्षिकाओं को बनाया बंधक: शिक्षा विभाग से लेकर पुलिस अफसरों तक सारी शिक्षिकाओं ने की शिकायत


शहर के एक गल्र्स कालेज में भी मी टू का एक मामला प्रकाश में आया है। कॉलेज की 16 शिक्षिकाओं का आरोप है कि प्रबंधक उनका शारीरिक और मानसिक उत्पीड़न कर रहा है। इस कार्य में प्रधानाचार्या और पूर्व प्रधानाचार्या भी उनका सहयोग कर रही हैं। शिक्षिकाओं ने आरोपितों के खिलाफ पुलिस अधिकारियों को तहरीर दी है। मामले की शिकायत शिक्षा विभाग के अधिकारियों से भी की गई है।1प्रबंधक के खिलाफ आवाज उठाने पर शिक्षकाओं को गुरुवार को बंधक बना लिया गया। काफी देकर तक कालेज परिसर में ही रोके रखा गया। इसको लेकर काफी देर तक हंगामा होता रहा। शिक्षिकाओं का आरोप है कि प्रधानाचार्या कक्ष में बुलवाकर उन्हें प्रबंधक के पैर छूने को विवश किया जाता है। आशीर्वाद के बहाने प्रबंधक शिक्षिकाओं के शरीर में यहां-वहां हाथ लगाते हैं। मना करने पर सार्वजनिक रूप से अपमानित किया जाता है। किसी प्रकार के अवकाश के लिए अवैध पैसा मांगा जाता था। 1आजिज आकर शिक्षिकाओं ने इस मामले की शिकायत संयुक्त शिक्षा निदेशक, जिला विद्यालय निरीक्षक, जिला अधिकारी, राज्य महिला आयोग एवं मुख्यमंत्री कार्यालय से की है। इस मामले में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक और एसपी सिटी को मुकदमा दर्ज करने के लिए प्रार्थनापत्र भी दिया गया है।मामले की शिकायत मिली है। इसकी सभी पहलू की जांच की जा रही है, सत्यता के आधार पर आगे की कार्यवाही की जाएगी। र}ेश सिंह, सीओ प्रथममामला संज्ञान में आया है, जनपद के बालिका विद्यालय डीआइओएस द्वितीय के कार्यक्षेत्र में आता है, शिक्षिकाओं ने प्रबंधक पर जो शिकायत की है उसकी विभागीय जांच कराई कराकर आगे की कार्यवाही की जाएगी। 1आरएन विश्वकर्मा, जिला विद्यालय निरीक्षक

प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु महत्वपूर्ण नोट्स और वीडियो