Oct 17, 2018

बेसिक शिक्षा में ‘खास’ का अंतर जिला तबादला, आम शिक्षक परेशान: इस तरह चली तबादले की प्रक्रिया


इलाहाबाद : बेसिक शिक्षा परिषद के स्कूलों में पढ़ा रहे शिक्षक अंतर जिला तबादले की दूसरी सूची जारी होने की राह देख रहे हैं। वहीं, कुछ ‘खास’ शिक्षकों का अंतर जिला तबादला कर दिया गया है। बेसिक शिक्षा परिषद मुख्यालय की ओर से जारी तबादला आदेश सोशल मीडिया में आने पर शिक्षक हैरान हैं, उनका कहना है कि हजारों शिक्षकों की अनसुनी करके चुनिंदा शिक्षकों को ही लाभ क्यों दिया जा रहा है? शासन ने पांच अक्टूबर को उच्च प्राथमिक स्कूल मीरपुर ख्याला विकासखंड परसपुर जिला गोंडा के प्राथमिक स्कूल के सहायक अध्यापक सनी चौधरी का तबादला शामली जिले के ग्रामीण क्षेत्र में किया गया है। शासन के निर्देश पर परिषद मुख्यालय के उप सचिव अनिल कुमार ने दोनों बीएसए को इस संबंध में आदेश जारी किया है। इसी तरह से एक शिक्षिका का भी तबादला दूसरे जिले में हुआ है। इन आदेशों से अन्य परिषदीय शिक्षकों में हड़कंप मचा है। उनका कहना है कि अंतर जिला तबादला चाहने वालों की बड़ी संख्या है ऐसे में शासन और शिक्षा विभाग चुनिंदा शिक्षकों पर ही क्यों मेहरबान है, अब तक अंतर जिला तबादले की दूसरी सूची क्यों जारी नहीं की गई है। अफसरों का कहना है कि दोनों मामलों में परिषद ने सिर्फ शासन के निर्देश का अनुपालन किया है।
इस तरह चली तबादले की प्रक्रिया : परिषदीय स्कूलों के अंतर जिला तबादले की सूची शासनादेश के एक वर्ष बाद 13 जून को जारी हुई थी। प्रदेश के 37396 शिक्षकों ने ऑनलाइन आवेदन किए, उनमें 31513 के प्रकरण सही मिले।


प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु महत्वपूर्ण नोट्स और वीडियो