Oct 10, 2018

पेपर लीक प्रकरण में बीटीसी प्रशिक्षुओं ने लगाया ताला, अफसर हुए कैद: टीईटी परीक्षा को डेढ़ माह आगे बढ़ाने व दिसंबर की शिक्षक भर्ती में शामिल करने का लिखित आश्वासन की मांग पर अड़े प्रशिक्षु


लखनऊ : बीटीसी चतुर्थ सेमेस्टर का पेपर लीक होने पर प्रशिक्षुओं में आक्रोश है। ऐसे में सुबह प्रदेश भर से छात्र राजधानी पहुंचे। उन्होंने एससीईआरटी निदेशालय में अफसरों के वाहन रोक लिए, वहीं शाम को गेट में ताला लगाकर उन्हें कार्यालय में देर तक कैद रखा।

दरअसल, बीटीसी-2015 के चतुर्थ सेमेस्टर की परीक्षा आठ से 10 अक्टूबर तक प्रस्तावित थी। परीक्षा के पहले ही दिन आठों पेपर लीक होने से व्यवस्थाएं धराशायी हो गईं। ऐसे में बीटीसी संयुक्त प्रशिक्षु मोर्चा ने सरकार व अफसरों की नाकामी का हवाला देकर मंगलवार को राजधानी में डेरा डाल दिया। निशातगंज स्थित राज्य शैक्षिक अनुसंधान व प्रशिक्षण कार्यालय में मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष सर्वेश प्रताप सिंह के नेतृत्व में सैकड़ों छात्रों ने नारेबाजी की। सुबह नौ बजे पहुंचे छात्रों ने 10 बजे अफसरों के कार्यालय आते ही उनका वाहन घेर लिया। ऐसे में छात्रों को समझा-बुझाकर अफसर कार्यालय में प्रवेश कर सके।1बीटीसी प्रशिक्षुओं का सुबह नौ बजे से एससीईआरटी कार्यालय पर नारेबाजी को लेकर निदेशक संजय सिन्हा ने वार्ता की। मगर प्रशिक्षु परीक्षा अगले सप्ताह कराने की घोषणा, टीईटी परीक्षा को डेढ़ माह आगे बढ़ाने व दिसंबर की शिक्षक भर्ती में शामिल करने का लिखित आश्वासन देने को लेकर अड़े रहे। इसको लेकर शासन स्तर तक मंथन चला।


प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु महत्वपूर्ण नोट्स और वीडियो