Search This Blog

Oct 16, 2018

पुरानी पेंशन बहाली की हड़ताल के लिए ‘स्मार्ट’ तरीके आजमा रहे कर्मचारी-शिक्षक, वॉट्सएप, फेसबुक व ट्विटर के साथ यू-ट्यूब से भी दे रहे जानकारी


लखनऊ : सरकारी कामकाज भले भी पुराने र्ढे पर चल रहा हो लेकिन, हड़ताल की ओर चल पड़े राज्य सरकार के कर्मचारी और शिक्षक अपने आंदोलन के लिए सभी स्मार्ट उपाय आजमा रहे हैं। स्मार्ट फोन में मौजूद सोशल मीडिया के सभी मंचों का भरपूर उपयोग करके कर्मचारी नेता प्रदेश के लाखों कर्मचारियों तक तेजी से अपनी बात पहुंचा रहे हैं।
कर्मचारी, शिक्षक, अधिकारी-पुरानी पेंशन बहाली मंच के संयोजक हरिकिशोर तिवारी बताते हैं कि 25 से 27 अक्टूबर तक प्रदेश में प्रस्तावित हड़ताल को सफल बनाने के लिए इस आशय के पोस्टर की फोटो को सभी कर्मचारियों-शिक्षकों व नेताओं से अपने वॉट्सएप पर डिस्प्ले पिक्चर (डीपी) के तौर पर लगाने का निर्देश जारी किया गया है, ताकि वॉट्सएप पर उनके संपर्क में आने वालों तक बिना बताये ही हड़ताल का संदेश पहुंच जाए। मंच के नेताओं ने फेसबुक पर हड़ताल का पेज बनाकर इसका लिंक फेसबुक के जरिये ही फ्रेंड्स लिस्ट में मौजूद सभी लोगों तक पहुंचाना शुरू कर दिया है।पहली बार कर्मचारी आंदोलन में सोशल मीडिया का जमकर प्रयोग कर रहे कर्मचारी नेता ट्विटर एकाउंट से एक क्लिक में ही अपनी बात प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से लेकर कर्मचारी-शिक्षकों तक पहुंचा रहे हैं तो ट्विटर पर मौजूद उनके फॉलोअर्स ऐसे ट्वीट को लाइक और रिट्वीट कर यह संदेश पाने वालों की संख्या में कई गुना इजाफा कर रहे हैं। खास यह कि सोशल मीडिया के इन परंपरागत माध्यमों के साथ कर्मचारी नेताओं ने अबकी यू-ट्यूब को भी हथियार बना लिया है। मंच के संयोजक तिवारी बताते हैं कि यू-ट्यूब पर चैनल बनाकर अखबारों में प्रकाशित खबरों को उसके डालने के साथ ही विभिन्न जिलों में होने वाले कार्यक्रमों और लखनऊ में हुई रैली के वीडियो भी इस पर पोस्ट किए जा रहे हैं।


प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु महत्वपूर्ण नोट्स और वीडियो