Oct 10, 2018

UPPSC: यूपीपीएससी की कई परीक्षाओं के अभिलेख भेजे गए दिल्ली, चयन में गड़बड़ी का संदेह पुष्ट करने में जुटे सीबीआइ अफसर


इलाहाबाद : यूपीपीएससी से भर्तियों में व्यापक रूप से गड़बड़ी केवल पीसीएस 2015 में ही नहीं बल्कि 2010 से 2015 तक अन्य कई बड़ी परीक्षाओं में भी सामने आ रही है। सीबीआइ ने शिकायतों व परीक्षा भवन में जांच के दौरान खुद भी यह पाया था कि अभ्यर्थियों के चयन में नियम को दरकिनार कर मनमानी की गई है। ऐसे में दिल्ली मुख्यालय से ही सीबीआइ अफसरों ने यूपीपीएससी (उप्र लोकसेवा आयोग) पर शिकंजा कसते हुए उत्तर पुस्तिकाओं समेत अन्य आवश्यक अभिलेख मंगा लिए हैं। पिछले दिनों यूपीपीएससी ने परीक्षा भवन और प्रशासनिक भवन में रखे अभिलेखों को ट्रक से सीबीआइ मुख्यालय भेजा।1यूपीपीएससी की ओर से ट्रक में जो अभिलेख भेजे गए उनमें पीसीएस 2011, पीसीएस 2015, लोअर सबॉर्डिनेट 2013, आरओ-एआरओ 2014, राजस्व निरीक्षक 2014 परीक्षा में अंतिम रूप से जारी परिणाम संबंधित फाइलें हैं। इसके अलावा कई परीक्षाओं की उत्तर पुस्तिकाएं भी शामिल हैं। इनमें पीसीएस व लोअर सबॉर्डिनेट परीक्षा में मॉडरेशन व स्केलिंग में मनमानी, एक जाति विशेष के अभ्यर्थियों को अनुचित लाभ देने, नियमों को बार-बार बदलने, उत्तर पुस्तिकाओं के मूल्यांकन व अभ्यर्थियों के साक्षात्कार के लिए बोर्ड गठन के प्रस्ताव संबंधित फाइलें भी शामिल हैं। बताया जा रहा है कि सीबीआइ ने इतने व्यापक पैमाने पर अभिलेख पहली बार यूपीपीएससी से मांगे हैं, जबकि इससे पहले आठ-10 फाइलों को ही मांगने पर उन्हें यूपीपीएससी के संबंधित विभाग के प्रभारी के साथ सीबीआइ के दिल्ली मुख्यालय भेजा जाता था। अभिलेख ई-मेल से भी सीबीआइ को यूपीपीएससी ने उपलब्ध कराया। इसमें खास बात यह है कि सीबीआइ अभी तक परीक्षा भवन से ही दस्तावेज जब्त कर रही थी, अब प्रशासनिक भवन पर भी नजर है। सचिव जगदीश का कहना है कि दस्तावेज पहले भी अधिक तादाद में सीबीआइ मुख्यालय भेजा गया है। ट्रक से अभिलेख पहली बार नहीं भेजे गए। बताया कि सीबीआइ जांच में कहीं रुकावट पैदा नहीं की जा रही है। जो भी अभिलेख मांगा जा रहा है उसे उपलब्ध कराया जा रहा है।

प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु महत्वपूर्ण नोट्स और वीडियो