🔎Search Me

Oct 6, 2018

UPTET (टीईटी-2018) के लिए 20 लाख से अधिक पंजीकरण: वेबसाइट में अब भी गड़बड़ी, महज सात लाख हो सके आवेदन, शुक्रवार शाम को एनआइसी ने फिर सुधारी कमियां, अभ्यर्थी परेशान


इलाहाबाद : उप्र शिक्षक पात्रता परीक्षा यानी यूपी टीईटी 2018 के लिए पंजीकरण का आंकड़ा बढ़कर 20 लाख को भी पार गया है। एक दिन में करीब सवा लाख नए अभ्यर्थियों ने पंजीकरण कराया है। इसके उलट आवेदन करने में अब भी परेशानी हो रही है। इसीलिए आवेदन महज सात लाख ही हो सके हैं। एनआइसी ने शुक्रवार शाम को वेबसाइट बंद करके कमियां दुरुस्त करने का दावा किया है लेकिन, अभ्यर्थियों की परेशानी खत्म नहीं हो रही है।
टीईटी-2018 के लिए पंजीकरण व आवेदन की समय सीमा बढ़ने के बाद लगातार नए पंजीकरण हो रहे हैं। इसी वजह से गुरुवार शाम से लेकर शुक्रवार शाम तक करीब सवा लाख नए पंजीकरण हुए हैं। इससे पंजीकरण का आंकड़ा बढ़कर 20 लाख 25 हजार 690 हो गया है। अभ्यर्थी अभी दो दिन तक और पंजीकरण कर सकेंगे, यह संख्या और बढ़ना तय है। इस बीच हाईकोर्ट ने भी कई अन्य डिग्री धारकों को टीईटी में शामिल करने का निर्देश दिया है। उधर, वेबसाइट से आवेदन करने की समस्या सुलझने का नाम नहीं ले रही है। ऑनलाइन आवेदन पत्र को अंतिम रूप से सम्मिट करने व परीक्षा शुल्क का धन जमा करने में शुक्रवार को भी परेशानी हुई है। इसीलिए आवेदकों की संख्या तेजी से नहीं बढ़ रही है। शुक्रवार शाम तक आवेदकों का आंकड़ा सात लाख किसी तरह पहुंचा है। अभ्यर्थियों का कहना है कि धीमे आवेदन से बढ़ी समय सीमा में भी आवेदन पूरा नहीं कर पाएंगे, इसलिए एनआइसी वेबसाइट को दुरुस्त करे और ऐसा इंतजाम होना चाहिए कि परीक्षा शुल्क आसानी से जमा हो जाए।
परीक्षा नियामक प्राधिकारी सचिव अनिल भूषण चतुर्वेदी ने बताया कि आवेदन व परीक्षा शुल्क को लेकर शुक्रवार शाम को एनआइसी ने कुछ घंटे के लिए वेबसाइट बंद करके उसे दुरुस्त किया है, इस बार आवेदन तेजी से होने की उम्मीद है। चतुर्वेदी ने दोहराया कि पंजीकरण की संख्या इसलिए अधिक है, क्योंकि एक अभ्यर्थी ने कई-कई बार दावेदारी की है, फिर भी आवेदक 15 लाख के ही आसपास होने की उम्मीद है।


प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु महत्वपूर्ण नोट्स और वीडियो