🔎Search Me

15 November 2018

कड़ी निगरानी और सुरक्षा के बीच 18 को संपन्न होगी यूपी टीईटी (UPTET-2018) की परीक्षा: डॉ प्रभात कुमार


कड़ी निगरानी और सुरक्षा के बीच 18 को संपन्न होगी यूपी टीईटी की परीक्षा: डॉ प्रभात कुमार
18 नवंबर को होने जा रही शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी-2018) में सफेदा(व्हाइटनर) लगाया तो उत्तर पत्रक के रूप में मिली ओएमआर शीट नहीं जांची जाएगी। .

यानि सफेदा लगाने की एक गलती पूरी मेहनत पर पानी फेर देगी। सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी अनिल भूषण चतुर्वेदी की ओर से जारी निर्देश में लिखा है कि ओएमआर शीट पर अशुद्ध लिखने के बाद सफेदा (करेक्टिव फ्लुइड या व्हाइटनर) का प्रयोग कभी न करें। ऐसा होने पर ओएमआर शीट निरस्त कर दी जाएगी। ताकि किसी प्रकार का विवाद न होने पाए। .

यदि कोई परीक्षार्थी सादी ओएमआर शीट (उत्तर पत्रक) जमा करता है तो कक्ष निरीक्षक उस पर अभ्यर्थी से ही क्रास (कटवा) देगा, क्योंकि उसका मूल्यांकन नहीं होगा। उत्तर पत्रक पर दिए गए स्थान पर पेन से हल किए गए प्रश्नों की संख्या शब्दों एवं अंकों में लिखना आवश्यक है। प्रश्न पुस्तिका एवं उत्तर पत्रक की कार्बन प्रति की एक कॉपी अभ्यर्थी परीक्षा के बाद अपने साथ ले जा सकेंगे।.

परीक्षार्थी प्रश्न-पुस्तिका के मुख्यपृष्ठ एवं ओएमआर शीट पर रजिस्ट्रेशन नंबर, अनुक्रमांक, केंद्र का नाम, प्रश्न पुस्तिका सीरीज, भाषा विकल्प, विज्ञान, गणित/सामाजिक विषय एवं अन्य विषय का विकल्प आदि (जो उत्तर-पत्रक में प्रिंट हो) को भरेगा। यदि प्रश्न पुस्तिका त्रुटिपूर्ण है तो अभ्यर्थी इसकी सूचना कक्ष निरीक्षक को देगा। कक्ष निरीक्षक त्रुटिपूर्ण प्रश्न पुस्तिका के बदले उसी सीरीज की नयी पुस्तिका देंगे। टीईटी-18 के लिए 2070 केंद्र बनाए गए हैं।.


प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु महत्वपूर्ण नोट्स और वीडियो