Search This Blog

Nov 3, 2018

68500 शिक्षक अभ्यर्थियों ने घेरा विधानभवन, पुलिस ने बरसाईं लाठियां, कई अभ्यर्थी हुए बेहोश: 30 से 33 प्रतिशत कट ऑफ पर परिणाम जारी करने की मांग


लखनऊ : शिक्षक अभ्यर्थियों ने शुक्रवार को एक बार फिर सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया। दोपहर करीब दो बजे अभ्यर्थियों ने विधानभवन घेर लिया और सड़क जाम कर सरकार विरोधी नारे लगाने लगे। बड़ी तादाद में जुटे अभ्यर्थियों को हटाने के लिए पुलिस अभ्यर्थियों पर लाठियां बरसाईं। लाठीचार्ज में करीब आधा दर्जन से अधिक अभ्यर्थियों को गंभीर चोटें आईं जिन्हें उपचार के लिए सिविल व अन्य अस्पताल में भर्ती कराया गया।

मामला 68500 शिक्षक भर्ती से जुड़ा है। अभ्यर्थियों का कहना है कि सरकार ने 30 से 33 प्रतिशत कटऑफ पर परीक्षा परिणाम जारी किए जाने की बात कही थी, उस पर अमल किया जाए। इसी मुद्दे को लेकर शिक्षक अभ्यर्थी विधानभवन का घेराव करने पहुंचे थे। यहां आक्रोशित अभ्यर्थियों ने नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन किया और सड़क जाम कर बैठ गए। मौके पर बड़ी तादाद में पहुंची पुलिस की अभ्यर्थियों से पहले तो नोकझोंक हुई फिर बात धक्कामुक्की तक पहुंच गई। अभ्यर्थी भी पुलिस पर आक्रामक हो गए। स्थिति बेकाबू होते ही पुलिस ने लाठियां चला दीं। पुलिस ने अभ्यर्थियों को दौड़ा दौड़ाकर पीटा। इससे कई अभ्यर्थियों को गंभीर चोटें भी आईं। पुलिस ने 14 अभ्यर्थियों को गिरफ्तार कर उनके विरुद्ध एफआइआर दर्ज की है।

कई अभ्यर्थी हुए बेहोश: पुलिस की कार्रवाई के दौरान कई अभ्यर्थियों को गंभीर चोटें आईं तो कई बेहोश हो गए। उन्हें बाद में पास के अस्पताल में उपचार के लिए पहुंचाया गया।
इससे पहले भी हो चुका बवाल : मांगों को लेकर अभ्यर्थियों ने इससे पहले भी बेसिक शिक्षामंत्री अनुपमा के आवास का घेराव कर नारेबाजी की थी। बाद में निशातगंज स्थित एससीईआरटी कार्यालय का घेराव करते हुए प्रदर्शन किया था।


प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु महत्वपूर्ण नोट्स और वीडियो