🔎Search Me

16 November 2018

90% से कम अटेंडेंस पर कटेगा शिक्षकों का वेतन

कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय की छात्राओं का कक्षा में अनुपस्थित रहना अब गुरुजनों का भारी पड़ेगा। छात्राओं की अनुपस्थिति के हिसाब से ही उनका वेतन काट दिया जाएगा। यदि 90 प्रतिशत से कम रहती है तो उनकी अनुपस्थिति प्रतिशत के बराबर शिक्षकों का वेतन काटा जाएगा। विद्यालय में उपस्थिति की स्थिति को बेहतर बनाने के लिए यह कवायद की गई है।

लखनऊ में आठ कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय संचालित हैं, जिनमें आर्थिक रूप से कमजोर बालिकाओं को कक्षा आठ तक पढ़ने के लिए आवासीय सुविधा दी जाती है। ठहरने और खाने-पीने की सारी सुविधा विभाग द्वार मुहैया कराई जाती है। बेसिक शिक्षा अधिकारी डॉ. अमर कांत सिंह ने बताया कि कई बार निरीक्षण में यह स्थिति सामने आई है कि कक्षाओं में छात्राओं की उपस्थिति 90 प्रतिशत से भी कम रहती है। इसको लेकर कई बार शिक्षकों और स्टाफ को चेतावनी दी गई और स्पष्टीकरण मांगा गया जबकि कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय आवासीय है। छात्राएं परिसर में रहकर ही पढ़ाई करती हैं। यदि परिसर में उपस्थित हैं तो कक्षा में अनुपस्थित रहने का सवाल ही नहीं उठता।

उन्होंने बताया कि छात्राओं की अनुपस्थिति शिक्षकों की लापरवाही को दर्शाती है। उन्होंने सभी कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालयों को निर्देश दिया है कि यदि कक्षा में 90 प्रतिशत से कम छात्राओं की उपस्थिति रही तो जितनी प्रतिशत अनुपस्थिति होगी उतनी प्रतिशत में ही शिक्षकों का वेतन काटने का निर्देश दिया जाएगा।

प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु महत्वपूर्ण नोट्स और वीडियो