🔎Search Me

16 November 2018

बेसिक शिक्षा विभाग के स्कूलों के लिए शिक्षा कायाकल्प का प्रशिक्षण अब जिलों पर ही होगा संपन्न


प्रयागराज : प्रदेश भर के बेसिक शिक्षा परिषद के प्राथमिक स्कूलों में शिक्षा कायाकल्प यानि ग्रेडेड लर्निग कार्यक्रम शुरू होना है। इसका मकसद कक्षा एक से पांच तक के छात्र-छात्रओं की शैक्षिक सम्प्राप्ति में वृद्धि करना है। इसके तहत शिक्षकों को जिले स्तर पर प्रशिक्षित किया जाएगा। यह कार्यक्रम इसी माह के अंतिम सप्ताह से शुरू करने की तैयारी है।
बेसिक शिक्षा निदेशक डा. सर्वेद्र विक्रम बहादुर सिंह ने सभी बीएसए को भेजे निर्देश में कहा है कि शासन के निर्देश पर शिक्षा कायाकल्प योजना को परिषदीय स्कूलों में प्रभावी ढंग से लागू करना है, ताकि ‘लेबल वाइज लर्निग’ का असर दिखे। इसके लिए विकास खंड स्तर पर रिसोर्स परसन यानि बीआरपी जिलों में प्रशिक्षण देंगे। प्राथमिक स्कूलों के शिक्षकों को पांच दिनी आधारभूत प्रशिक्षण ब्लाक संसाधन केंद्र पर ही आयोजित किया जाएगा। कार्यक्रम अवधि में दो बार दो-दो दिनी पुनबरेधात्मक प्रशिक्षण भी दिया जाएगा।
निदेशक ने निर्देश दिया है कि प्रशिक्षण के अगले चरण में जिले के परिषदीय प्राथमिक स्कूलों के शिक्षकों का लक्ष्य समूह के अनुसार कक्षा एक व दो के लिए और कक्षा तीन, चार व पांच के लिए दो अलग-अलग लक्ष्य समूह बनाए जाएं, ताकि चयनित शिक्षकों का प्रशिक्षण कराने की कार्ययोजना अभी से तैयार हो जाए। इसके लिए विद्यालयों को आवश्यक शिक्षक अधिगम सामग्री जल्द उपलब्ध कराई जाए। निर्देश है कि सभी जिलों में यह प्रशिक्षण इसी माह के अंतिम सप्ताह से शुरू होगा। सभी बेसिक शिक्षा अधिकारियों से तय प्रारूप पर रिपोर्ट मांगी गई है। यह भी निर्देश है कि यह प्रशिक्षण शासन की प्राथमिकता का कार्यक्रम है इसलिए वरीयता के आधार पर तय समय में क्रियान्वयन होना जरूरी है।


प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु महत्वपूर्ण नोट्स और वीडियो