🔎Search Me

16 November 2018

टीईटी(UPTET 2018): अंकपत्र की प्रमाणित कॉपी भी मान्य, परीक्षा केंद्र व्यवस्थापकों को भेजे निर्देश


लखनऊ : उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (यूपीटीईटी)-2018 में प्रशिक्षण प्रमाण पत्र की प्रमाणित फोटोकॉपी को देखकर भी प्रवेश दिया जा सकेगा। अभ्यर्थियों को इसके साथ अपना प्रवेश पत्र, फोटो आईडी लाना अनिवार्य होगा। डीआईओएस डॉ. मुकेश कुमार सिंह ने टीईटी केंद्र के प्रधानाचार्यों को गुरुवार को निर्देश जारी कर दिए। अब तक परीक्षा में अभ्यर्थियों को अंकित फोटोयुक्त आईडी, प्रशिक्षण प्रमाण पत्र और किसी भी सेमेस्टर के अंक पत्र की मूल प्रति लाने के ही निर्देश दिए गए थे।

डीआईओएस ने बताया कि अपर मुख्य सचिव ने सेमेस्टर के अंक पत्र की मूल प्रति या संबंधित संस्थान से प्रमाणित प्रति लाने की छूट के निर्देश दिए हैं। अभ्यर्थियों के मूल प्रमाण पत्र संस्थान में जमा होंगे। ऐसे में दिक्कत से बचाने के लिए व्यवस्था की गई है।

काला बॉल पॉइंट पेन ही मान्य : परीक्षा में अब अभ्यर्थी सिर्फ काले बॉल पॉइंट पेन का ही प्रयोग कर सकेंगे। अभी तक अभ्यर्थियों को काले/नीले बॉल पॉइंट पेन के प्रयोग करने की छूट थी। दृष्टि बाधित व शारीरिक रूप से अशक्त अभ्यर्थियों को श्रुत लेखक की सुविधा दी जाएगी।

2018 में 12वीं पास हो श्रुत लेखक : दृष्टिबाधित और शारीरिक रूप से अक्षम अभ्यर्थियों को श्रुत लेखक की सुविधा दी जाएगी। सहायक को 2018 में इंटर परीक्षा में शामिल होने और आवेदक को दिव्यांग होने का प्रमाण पत्र देना होगा। दृष्टिबाधितों को 30 मिनट अतिरिक्त दिए जाएंगे।


प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु महत्वपूर्ण नोट्स और वीडियो