17 November 2018

प्रिंसिपल साहब अपने ही कॉलेज में देंगे UPTET 2018 की परीक्षा! डीआईओएस ने केंद्र प्रभारी का चार्ज दूसरे को दिया, टीईटी की तैयारियों को दिया गया अंतिम रूप




बाराबंकी: शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) में एक कॉलेज के प्रिसिंपल अपने ही केंद्र पर परीक्षार्थी बन गए हैं। जानकारी पर प्रशासन ने उनसे प्रिसिंपल का चार्ज ले लिया है। परीक्षा अवधि में उनके कक्ष में विशेष निगरानी रखी जाएगी।

दरअसल नगर के साईं इंटर कॉलेज के प्रिसिंपल अशोक कुमार ने टीईटी के लिए आवेदन किया था। उनका परीक्षा केंद्र उनका ही कॉलेज बन गया। डीआईओएस राजकुमार के संज्ञान में यह मामला आया तो उन्होंने प्रिसिंपल का चार्ज सतीश तिवारी को दे दिया है। डीआईओएस की ओर से शासन को पत्र लिखकर अशोक कुमार का परीक्षा केंद्र बदले जाने की मांग की गई। हालांकि शासन ने स्पष्ट कर दिया है कि अब परीक्षा केंद्र बदल पाना संभव नहीं है। इसलिए निगरानी के विशेष प्रबंध कर लिए जाएं। डीआईओएस ने बताया कि ऐसी स्थिति में अशोक बतौर परीक्षार्थी अपने ही कॉलेज में परीक्षा देंगे। उनके कक्ष में विशेष निगरानी के प्रबंध किए जा रहे हैं। अन्य कॉलेज के शिक्षकों की उस कक्ष में बतौर कक्ष निरीक्षक ड्यूटी लगाई जाएगी।

तीस केंद्रों पर दो शिफ्ट में होगी परीक्षा

डीआईओएस ने बताया कि बाराबंकी में प्राथमिक स्तर की टीईटी परीक्षा सुबह की शिफ्ट में होगी। इसके लिए 22 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। जबकि दूसरी शिफ्ट में आठ केंद्रों पर परीक्षा करवाई जाएगी। पहली शिफ्ट सुबह 10 बजे से 12:30 बजे तो दूसरी शिफ्ट दोपहर तीन बजे से साढ़े पांच बजे के बीच होगी। डीएम उदयभानु त्रिपाठी ने प्रत्येक केंद्र पर एक अतिरिक्त शिक्षा विभाग का और एक प्रशासन का पर्यवेक्षक तैनात किया गया है। पर्यवेक्षकों की जिम्मेदारी में ही प्रश्नपत्र सौंपे जाएंगे। खोलते समय उनकी विडियोग्राफी भी कराई जाएगी। प्रत्येक पर्यवेक्षक को प्रशासन की ओर से एक वाहन व चालक भी दिया जाएगा।

प्रवेश पत्र के अलावा ये जरूर साथ ले जाएं

डीआईओएस ने बताया केंद्र पर अभ्यर्थी के पास प्रवेश पत्र के अलावा प्रशिक्षण संबंधी प्रमाणपत्र अथवा किसी एक वर्ष का अंकपत्र, आईडी प्रूफ, विकलांग होने पर उसका प्रमाणपत्र व केवल काला बाल पॉइंट पेन लाना जरूरी है।

प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु महत्वपूर्ण नोट्स और वीडियो