🔎Search Me

01 December 2018

सपा शासनकाल में मेरिट के आधार पर 72825 शिक्षक भर्ती फीस लौटाने को आवेदन की मियाद खत्म


प्रयागराज : सपा शासनकाल में मेरिट के आधार पर 72825 सहायक अध्यापक भर्ती की फीस लौटाने के लिए आवेदन की मियाद शुक्रवार को पूरी हो गई है। योगी सरकार ने 2015 में जारी शासनादेश के आधार पर यह प्रक्रिया शुरू कराई थी। अब शनिवार से जिलों में बेसिक शिक्षा अधिकारी प्राप्त आवेदनों का डाटा से मिलान करेंगे। आवेदकों को नए साल में फीस की धनराशि दी जाएगी।
बेसिक शिक्षा परिषद के प्राथमिक स्कूलों में मायावती के शासनकाल में 72825 शिक्षक भर्ती का आदेश हुआ था। सपा शासन में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने इसी भर्ती के लिए पांच दिसंबर 2012 को नया शासनादेश जारी किया। जिसमें भर्ती एकेडमिक मेरिट पर की जानी थी। अभ्यर्थियों से आवेदन भी लिए गए। हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने मायावती के समय शुरू हुई प्रक्रिया को ही आगे बढ़वाया। ऐसे में 23 फरवरी 2015 को अभ्यर्थियों को फीस वापस करने का निर्णय हुआ लेकिन, उस पर अब तक अमल नहीं हो सका है।

योगी सरकार ने अभ्यर्थियों को फीस वापस करने निर्णय लिया है। बेसिक शिक्षा परिषद सचिव रूबी सिंह ने इस संबंध में दो नवंबर को निर्देश जारी किए। उस समय आवेदन करने वाले अभ्यर्थियों से तीन से लेकर 30 नवंबर तक आवेदन मांगे गए। इसके लिए संबंधित जिलों के डायट प्राचार्य को आवेदन पत्र रजिस्टर्ड डाक, स्पीड पोस्ट या फिर वाहक के माध्यम से जमा कराने को कहा गया।

यह प्रक्रिया शुक्रवार शाम को पूरी हो गई है। इसी बीच कई जिलों में डाक विभाग के अफसर व कर्मचारियों के असहयोग की भी सूचनाएं आती रही लेकिन, अभी तक आवेदन की तारीख बढ़ाने पर एलान नहीं हुआ है। अब 15 दिसंबर तक डायट प्राचार्य प्राप्त आवेदनों को बेसिक शिक्षा अधिकारियों को सौंपेंगे।

प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु महत्वपूर्ण नोट्स और वीडियो