🔎Search Me

04 December 2018

टीईटी इनवैलिड/प्रोफेशनल मामले में आज सुप्रीमकोर्ट की सुनवाई का सार

अधिवक्ता श्री राकेश खन्ना जी का इसी कोर्ट में 22 नम्वर पर एक केस और लिस्टेड था अतः खन्ना साहब कोर्ट में पहले से ही मौजूद थे।

कोर्ट की कार्यवाही शुरू होते ही सबसे पहले सीनियर अधिवक्ता श्री राकेश द्विवेदी ने प्रोफेशनल मुद्दे पर बोलना शुरू किया। उसके बाद असोसिएशन के सीनियर अधिवक्ता श्री राकेश खन्ना ने परसुइंग शब्द की व्याख्या पर कोर्ट में प्रकाश डाला। अन्य अधिवक्ताओं ने भी कोर्ट में अपनी बात रखनी शुरू की तो जस्टिस मिश्रा ने कहा कि अभी तक ये पूरा मामले से कोर्ट अवगत नही है अतः सभी अधिवक्ता अपने अपने केस का सिनॉप्सिस कोर्ट में फ़ाइल करे।

साथ ही कोर्ट ने यह भी आदेश किया कि यह मामला जनवरी के तीसरे सप्ताह में लिस्ट किया जाए। सुनवाई कुल 13 मिनट चली।संभवतः 15 अथवा 16 जनवरी में सुनवाई हो सकती है।


Ⓜमोर्चा परिवारⓂ

"""""""""""""""""""""''''''''''''''

    

"""""""""""""""""""""''''''''''''''

कोर्ट नo 06 .माननीय अरूण मिश्रा और विनीत सरन की बेंच मे ..केस नo 26 समय 11:10 am पर सुनवाई हुई,,,,

सर्वप्रथम राकेश द्विवेदी ने बह्स शुरू की.. चुँकि राकेश द्विवेदी पेर्सुइन्ग और प्रोफ़ेसनल दोनो मे विरोधी की तरफ़ से appear थे.. 

====================

मोर्चा परिवार की तरफ़ से रूपेन्द्र सिंह सूरी  पेर्सुइन्ग मुद्दे पर बोले..


इसी बीच वेंकटरमणी ने पेर्सुइन्ग पर बोलना शुरू किया,, 

सभी को रोक कर कोर्ट ने राकेश द्विवेदी को प्रोफ़ेशनल पर बह्स को कहा..इन्होने professional के खिलाफ़ डिग्री पर बोला,,वकील मोहना जी ने इसका विरोध किया,,


फिर पेर्सुइन्ग की files उठा ली... 

 इस मुद्दे रमणी जी ,,सूरी जी,,ने राकेश द्विवेदी जी के points का विरोध किया,,बार बार file फ़ेक कर उठा रही थी कोर्ट,,

*विशेष -:इस मामले मे सभी party और उससे जुड़े सभी pritioners गम्भीर हो जाये,, कही यह आप सभी की शिथिलता का यही कारण...unselected लोगो का selected लोगो पर भारी पड़ने का कारण न बन जाये* 

7 दिन के अंदर सभी को written submission दाखिल करने को कहा,,

अगली तारीख 3rd  week जनवरी....सम्भवता 15 जनवरी को है,,

शेष फिर ----

===============


आपका साथी

    Ⓜमोर्चा परिवार💯

धन्यवाद--


प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु महत्वपूर्ण नोट्स और वीडियो