🔎Search Me

05 December 2018

पुरानी पेंशन हेतु EMAIL करने के लिए मैटर, करें कॉपी और भेज दें pendir@up.nic.in पर


EMAIL करने हेतु मैटर
इस पोस्ट को कापी करें और नीचे अपना नाम व विभाग,पद लिखकर दिये गये ईमेल पर भेजें।
ईमेल एड्रेस- pendir@up.nic.in
 पर भेज दें।
 सेवा में,
            निदेशक
         पेंशन/सचिव
     पुरानी पेंशन बहाली समिति
      उत्तर प्रदेश शासन
             लखनऊ
महोदय,
           पुरानी पेंशन व नयी पेंशन में असमानता के बिन्दु निम्न है, जिसके कारण हम असनतुष्ट हैं। अत: निवेदन है कि शिक्षक,कर्मचारी, अधिकारी हित में पुरानी पेंशन व्यवस्था पुन:बहाल की जाय।

1-पुरानी पेंशन पाने वालों के लिए जी0 पी0 एफ0 सुविधा उपलब्ध है जबकि नयी पेंशन योजना में जी0 पी 0एफ0 नहीं है ।

2-पुरानी पेंशन के लिए वेतन से कोई कटौती नहीं होती है जबकि नयी पेंशन योजना में वेतन से प्रति माह 10%की कटौती निर्धारित है ।

3-पुरानी पेंशन योजना में रिटायरमेन्ट के समय एक निश्चित पेंशन( अन्तिम वेतन का 50%) की गारेण्टी है जबकि नयी पेंशन योजना में पेंशन कितनी मिलेगी यह निश्चित नहीं है यह पूरी तरह शेयर मार्केट व बीमा कम्पनी पर निर्भर है ।


4-पुरानी पेंशन सरकार देती है जबकि नयी पेंशन बीमा कम्पनी देगी । यदि कोई समस्या आती है तो हमे सरकार से नहीं बल्कि बीमा कम्पनी से लडना पडेगा ।

5-पुरानी पेंशन  में आने वाले लोंगों को सेवाकाल में मृत्यु होने पर उनके परिवार को पारिवारिक पेंशन मिलती है जबकि नयी पेंशन योजना में पारिवारिक पेंशन को समाप्त कर दिया गया है ।

6-पुरानी पेंशन पाने वालों को हर छ: माह बाद महँगाई तथा वेतन आयोगों का लाभ भी मिलता है जबकि नयीपेंशन में फिक्स पेंशन मिलेगी महँगाई या वेतन आयोग का लाभ नहीं मिलेगा यह हमारे समझ से सबसे बडी हानि है ।

7-पुरानी पेंशन योजना वालों के लिए जी0 पी0 एफ0 से आसानी से लोन लेने की सुविधा है जबकि नयी पेंशन योजना में लोन की कोई सुविधा नही है ।

8-पुरानी पेंशन योजना में जी0 पी0 एफ0 निकासी( रिटायरमेंट के समय) पर कोई आयकर नहीं देना पडता है जबकि नयी पेंशन योजना में जब रिटायरमेंट पर जो जो अंशदान का 60%वापस मिलेगा उसपर आयकर लगेगा ।

12-जी 0पी0एफ0पर ब्याज दर निश्चित है जबकि एन0 पी0 एस0 पूरी तरह शेयर पर आधारित है । 


      भवदीय
नाम-
पद-
विभाग

प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु महत्वपूर्ण नोट्स और वीडियो