22 May 2020

अब आने वाली शिक्षक भर्तियों में NIOS से डीएलएड भी होंगे दावेदार, यूपीटीईटी 2019 में शामिल होने वालों की ओएमआर का नहीं हुआ था मूल्यांकन


प्रयागराज : शिक्षक भर्ती की आने वाली परीक्षाओं में दावेदारों की संख्या और बढ़नी तय हो गई है। राष्ट्रीय मुक्त विद्यालयी शिक्षा संस्थान यानी एनआइओएस से डीएलएड का प्रशिक्षण प्रमाणपत्र हासिल करने वाले अभ्यर्थी भी अब आवेदन कर सकते हैं। राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद यानी एनसीटीई ने इस पाठ्यक्रम को अर्ह घोषित कर दिया है।


उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (यूपी टीईटी) 2019 में शामिल होने वाले ऐसे अभ्यíथयों के ओएमआर का मूल्यांकन नहीं हुआ था, जिन्होंने एनआइओएस से डीएलएड प्रशिक्षण प्राप्त किया था। परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय ने परीक्षा समिति में इस प्रस्ताव का अनुमोदन कराकर ऐसे अभ्यíथयों को बाहर का रास्ता दिखाया था, क्योंकि इस पाठ्यक्रम को मान्यता नहीं थी। असल में एनआइओएस के अभ्यíथयों ने भी डीएलएड का प्रशिक्षण प्रमाणपत्र लगाकर आवेदन किया था। उस समय तक राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद यानी एनसीटीई की नियमावली में सिर्फ शिक्षामित्रों को ही पत्रचार के माध्यम से डीएलएड मान्य था, इसके सिवा नियमावली में अन्य पत्रचार के डीएलएड मान्य नहीं था, इसलिए एनआइओएस के डीएलएड अभ्यíथयों की ओएमआर का मूल्यांकन नहीं हो सका था। इसके पहले तमाम जिलों में एनआइओएस से डीएलएड करने वालों को परीक्षा केंद्रों में प्रवेश से रोका था, उसके बाद भी तमाम इम्तिहान देने में सफल हो गए थे। उनकी संख्या एक लाख से अधिक बताई जा रही है।
यूपीटीईटी 2019 में शामिल होने वालों की ओएमआर का नहीं हुआ था मूल्यांकन

Guruji Portal: 👇प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु नोट्स👇