13 September 2020

पीएम ने दिया नया मंत्र, जब तक दवाई नहीं, तब तक ढिलाई नहीं, बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए पढ़ाई पर दें जोर

भोपाल : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना महामारी की गंभीर स्थिति को देखते हुए देशवासियों को अब एक नई सीख दी है। उन्होंने कहा है कि ‘जब तक दवाई नहीं, तब तक ढिलाई नहीं’। साथ ही, उन्होंने ‘दो गज की दूरी, मास्क है जरूरी’ नारा भी याद दिलाया। प्रधानमंत्री आवास योजना के मध्य प्रदेश के लाभार्थियों से शनिवार को ऑनलाइन रूबरू हुए मोदी ने कहा कि कोरोना काल में केंद्र ने गरीबों के लिए 18 लाख घर बनाए हैं। गरीबी खत्म करने के लिए गरीबों को मजबूती देना जरूरी। इस मौके पर उन्होंने मध्य प्रदेश के पौने दो लाख गरीब परिवारों को प्रधानमंत्री आवास योजना के घरों में प्रवेश भी कराया।


मोदी ने कोरोना से सतर्क रहने की देशवासियों से अपील की। कहा कि संक्रमण खत्म नहीं हुआ है। प्रत्येक व्यक्ति को स्वच्छता का ध्यान रखना चाहिए। पीएम ने पूर्ववर्ती सरकारों पर तंज कसते हुए कहा कि अगर कोई योजना सही नीयत से बनाई जाए तो वह साकार होती ही है। आजादी के बाद से ही गरीबों को घर देने की योजनाएं बनाई जा रही थीं, लेकिन उनमें सरकारी दखलंदाजी थी। 2014 के बाद योजना की समीक्षा कर जरूरतमंदों की स्थानीय जरूरतों को ध्यान में रखकर प्रधानमंत्री आवास योजना बनाई गई। कोरोना काल में इस योजना का काम तेज गति से हुआ और शहरों से गांव लौटे लोगों ने सरकार की ‘आपदा को अवसर’ में बदलने की सोच को साकार किया। उन्होंने कहा कि आमतौर पर जो प्रधानमंत्री आवास 125 दिन में बनता था, वह कोरोना काल में मात्र 45 से 60 दिन में तैयार हो गया। मोदी ने कहा कि गांवों तक ऑप्टिकल फाइबर पहुंचाने का स्वतंत्रता दिवस पर जो संकल्प लिया था, उसके अंतर्गत एक हजार दिन में छह लाख गांवों का लक्ष्य रखा गया है।

कोरोना काल के बाद भी इसमें काफी तेजी से काम चल रहा है और देश के 116 जिलों में पांच हजार किलोमीटर ऑप्टिकल फाइबर बिछाई जा चुकी है। मोदी ने धार, ग्वालियर और सिंगरौली के तीन हितग्राही परिवारों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये हल्के-फुल्के अंदाज में चर्चा की और प्रधानमंत्री आवास योजना में भ्रष्टाचार के बारे में जानने की गंभीरता से कोशिश की। मोदी ने मप्र के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को बधाई देते हुए कहा कि उन्होंने प्रधानमंत्री आवास योजना का वास्तविक हितग्राहियों को लाभ ही नहीं दिया, बल्कि उनके लिए बनी अन्य 27 सरकारी कल्याणकारी योजनाओं को इससे जोड़कर उन तक लाभ पहुंचाया।

नई दिल्ली में शनिवार को प्रधानमंत्री मोदी ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये मध्य प्रदेश में प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) के तहत ‘गृह प्रवेश’ कार्यक्रम को संबोधित किया ’ एएनआइ

’ प्रधानमंत्री आवास योजना के मप्र के लाभार्थियों से रूबरू हुए पीएम

’ कहा-संक्रमण की समस्या अभी खत्म नहीं हुई, स्वच्छता का रखें ध्यान

’ ‘दो गज की दूरी, मास्क है जरूरी’ नारा भी मोदी ने दिलाया याद

गरीब परिवारों को मध्य प्रदेश में पीएम आवास योजना के तहत कराया गृह प्रवेश

यह भी कहा

’ आजादी के बाद से ही गरीबों को घर देने की योजनाएं बन रहीं, मगर इनमें सरकारी दखलंदाजी थी

’ अगर कोई योजना सही नीयत से बनाई जाए तो साकार होती ही है

’ शहरों से गांव लौटे लोगों ने सरकार की ‘आपदा को अवसर’ में बदलने की सोच को साकार किया

बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए पढ़ाई पर दें जोर: मोदी

मोदी ने पीएम आवास योजना को इंद्रधनुषी बताते हुए कहा कि इससे हितग्राही को न केवल घर मिल रहा है, बल्कि गैस कनेक्शन, शौचालय और बिजली के एलईडी बल्ब मिलेंगे। मोदी ने हितग्राहियों से आग्रह किया कि वे अब अपने बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए उनकी पढ़ाई पर भी जोर दें।

Guruji Portal: 👇प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु नोट्स👇