15 September 2020

बर्खास्त सात शिक्षकों से जल्द होगी वेतन की रिकवरी

लखनऊ : राजधानी में भी बीएड और टीईटी के फर्जी अंकपत्र लगाकर नौकरी पाने वाले शिक्षकों ने नियुक्ति के वक्‍त हुए वेरीफिकेशन प्रक्रिया पर सवाल खड़े कर दिए हैं। बीते कुछ माह में प्राथमिक विद्यालयों के सात ऐसे शिक्षक पकड़े गए, जिनकी बीएड व टीईटी की अंक तालिका फर्जी निकली। ऐसे शिक्षकों को बर्खास्त कर उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया। अब इन दोषी शिक्षकों से वेतन की रिकवरी भी जल्द की जाएगी। बेसिक शिक्षा विभाग ने इसकी


तैयारी पूरी कर ली है। हालांकि, शिक्षा विभाग अभी तक फर्जी वेरीफिकेशन में संलिप्त शिक्षकों के मददगारों को चिह्वित नहीं कर पाया है। सात शिक्षक बर्खास्त किए जा चुके हैं। इन शिक्षकों में मलिहाबाद प्राथमिक विद्यालय के सुशील तिवारी, हर्षनाग, रीमा पाल, मोहनलालगंज से नूर अमरीद, गोसाईगंज से आकाश श्रीवास्तव, बीकेटी से बबिता और ज्योति रावत हैं। इनके खिलाफ केस दर्ज कराई गई है। इसकी जांच चल रही है। चिनहट से नीलम यादव और गोसाईगंज से कमला वर्मा के भी शैक्षिक दस्तावेज फर्जी पाए गए थे। इनकी जांच एसआइटी कर रही है। बीएसए दिनेश कुमार ने बताया कि जो फर्जी शिक्षक नौकरी कर रहे थे, उनके वेतन को रिकवरी जल्द की जाएगी।

Guruji Portal: 👇प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु नोट्स👇