17 September 2020

आरओ-एआरओ:- अभ्यर्थी काला कपड़ा पहनकर देंगे परीक्षा


प्रयागराज : परीक्षा से पहले उप्र लोकसेवा आयोग ने नियमों में बदलाव किया है। इस कदम से आरओ-एआरओ-2016 के अभ्यर्थी खफा हैं। प्रदेश सरकार व आयोग के खिलाफ विरोध दर्ज कराने के लिए अभ्यर्थियों ने 20 सितंबर को प्रस्तावित प्रारंभिक परीक्षा में काला कपड़ा पहनकर शामिल होने का निर्णय लिया है। अभ्यर्थी काली शर्ट, टी-शर्ट, मास्क लगाने के साथ बांह में काली पट्टी बांधकर परीक्षा में शामिल होंगे। इसके लिए सोशल मीडिया में अभियान चलाया जा रहा है। अभियान को अभ्यर्थियों का व्यापक समर्थन मिल रहा है।


यूपीपीएससी ने आरओ/एआरओ-2016 के तहत 361 पदों की भर्ती निकाली थी। उस समय भर्ती के विज्ञापन में माइनस मार्किंग का कोई निर्देश नहीं था। इसके तहत प्रारंभिक 27 नवंबर 2016 में आयोजित हुई थी लेकिन, प्रारंभिक परीक्षा का पेपर लीक होने के कारण उसे निरस्त कर दिया गया। जनवरी 2020 में प्रारंभिक परीक्षा दोबारा कराने का निर्णय लिया गया। प्रारंभिक परीक्षा रविवार 20 सितंबर को प्रस्तावित है। इसके पहले आयोग ने माइनस मार्किंग की व्यवस्था लागू कर दी है। आयोग की वेबसाइट पर प्रवेश पत्र जारी होने पर अभ्यर्थियों को इसकी जानकारी हुई। पद के सापेक्ष मेंस के लिए 18 गुना अभ्यर्थियों को पास करने का नियम बदलकर 13 गुना कर दिया गया। अभ्यर्थियों का कहना है कि विज्ञापन के बाद कोई भी बदलाव करना गलत है। आयोग ने बदलाव की सूचना भी नहीं दी। अगर मनमाना बदलाव अपनी सुविधा के अनुरूप करना है तो विज्ञापन जारी करने का क्या औचित्य रह जाएगा? जब भर्ती विज्ञापन और उन्हीं अभ्यर्थियों की हो रही है तो अचानक नियम में बदलाव करना अनुचित है।

2014 में भी हुआ था विरोध : अभ्यर्थियों ने 2014 में विरोध किया था। पीसीएस-2013 के अभ्यर्थी काली पट्टी बांधकर परीक्षा में शामिल हुए थे।

20 सितंबर को प्रस्तावित प्रारंभिक परीक्षा

वाराणसी के केंद्र का नाम-पता बदला

यूपीपीएससी ने वाराणसी में आरओ -एआरओ-2016 प्रारंभिक परीक्षा के लिए बने एक केंद्र के नाम व पते में बदलाव किया है। परीक्षा नियंत्रक अर¨वद कुमार मिश्र ने बताया कि पहले केंद्र का नाम श्रीमती प्यारीदेवी इंटर कालेज रामनगर नेवादा अकेलवां वाराणसी था। अब उसमें बदलाव करके पियारी देवी इंटर कालेज नेवादा बनकट अकेलवां वाराणसी किया है।

Guruji Portal: 👇प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु नोट्स👇