07 September 2020

बी.एस.ए.और ए.डी.बेसिक के माध्यम से बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री और महानिदेशक को ज्ञापन सौंपा गया


गोरखपुर। शिक्षक दिवस के दिन जिले के प्राथमिक शिक्षकों ने गांधी गिरी कर उ.प्र.के माननीय बेसिक शिक्षा राज्य मंत्री और महानिदेशक स्कूली शिक्षा को एक पुष्प के साथ मांग पत्र बी.एस.ए.और ए.डी.बेसिक के माध्यम से भेजा है।


शिक्षकों ने कहा कि तीन वर्षों से हम शिक्षकों के प्रदेशीय प्रतिनिधियों ने अनेक बार मांगो को मानने हेतु मांगपत्र दिया, आंदोलन किया,परंतु कई बार वार्ता में सहमति बनने के बाद भी कोई मांग पूरी नहीं किया गया और न ही शासनादेश जारी किया गया। पहले शिक्षक दिवस के दिन शिक्षकों को जिला,प्रदेश स्तर पर सम्मानित किया जाता था परंतु विगत वर्ष से यह परंपरा भी बंद कर पूर्व संध्या पर कर दिया गया। उनके छद्म नाम-पता के शिकायती पत्र के आधार पर शिक्षकों नियम विरुद्ध है। अब प्रदेश सरकार के वर्तमान कार्यकाल में केवल एक बार और शिक्षक दिवस आयेगा और सरकार अपने को गांधी जी के सिद्धांतों पर चलने वाला बताती है इसलिए हम शिक्षक गांधी जी के सिद्धांतों पर चलकर यह मांग कर रहे हैं कि सरकार हमारे प्रदेशीय नेतृत्व द्वारा विगत तीन वर्षों से दिये
को तो पूरा करने की कृपा कर दे जिससे हम प्राथमिक शिक्षक भी अपने को इस सरकार के कार्यकाल में गौरवान्वित महसूस कर सकें प्रतिनिधि मंडल का नेतृत्व कर रहे शिक्षक नेता ज्ञानेंद्र ओझा ने कहा कि आई.ए.एस.पी.सी.एस.की पदोन्नति की जा रही है, लेकिन कोर्ट एवं अन्य अनेक बहाना कर हमारी पदोन्नतियां
नहीं की जा रही हैं।आखिर पदोन्नति का रास्ता साफ करना सरकार का ही कार्य है चाहे तो इसके लिए शासनादेश जारी करें या कोर्ट में आवश्यक फैसला कराया इस प्रकार पदोन्नति, ई.यल, अवकाश,चिकित्सा भत्ता आदि में से कोई एक भी मांग तो अपनी सुविधा नुसार पूरा कर दें।शिक्षक नेता ने बताया कि जब तक हमारी मांगे पूरी नहीं की जायेंगी तब तक प्रत्येक माह इसी तरह सरकार को मांगे मानने के लिए "याद-दिलायें दिवस' गोरखपुर के शिक्षक मनायेंगे। पुष्प और ज्ञापन देने के कार्यक्रम के अवसर पर ज्ञानेंद्र ओझा, घनश्याम मिश्र,पंकज पांडे,अच्युत गोविंद पुष्पराज दूबे,
मुकुल राय,विनय कुमार दुबे, धीरज कुंवर सुनील दुबे,अखिलेश्वर पाण्डेय,मनोज कुमार वर्मा आदि अनेक शिक्षक उपस्थित थे।

Guruji Portal: 👇प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु नोट्स👇