06 October 2020

यूपी पंचायत चुनाव के लिए राज्य निर्वाचन आयोग की तैयारियां हुईं और तेज, मतपत्र का रंग हुआ निर्धारित, जानिए किस पद के लिए कैसा होगा बैलेट पेपर का रंग

उत्तर प्रदेश में होने वाले त्रि-स्तरीय पंचायत चुनाव के लिए राज्य निर्वाचन आयोग की तैयारियां और तेज हो गयी हैं। प्रयागराज स्थित राजकीय प्रिंटिंग प्रेस में मतपत्रों की छपाई का काम भी शुरू हो गया है। प्रधान पद के प्रत्याशी के लिए हरे रंग का मतपत्र होगा जबकि ग्राम पंचायत सदस्य के पद के उम्मीदवार के लिए सफेद रंग के मतपत्र पर मतदाता को मुहर लगानी होगी। इसी क्रम में क्षेत्र पंचायत सदस्य पद के प्रत्याशी के लिए  के नीले रंग का और जिला पंचायत सदस्य पद के लिए गुलाबी रंग का मतपत्र छप रहा है।  



पहली अक्तूबर से शुरू हुए वोटर लिस्ट पुनरीक्षण अभियान में बूथ लेबल आफिसर हर ग्राम पंचायत में घर-घर जाकर वोटरों की जांच कर रहे हैं। यह बीएलओ वर्ष 2015 में हुए पिछले पंचायत चुनाव के बाद से अब तक परिवार में 18 वर्ष की उम्र पूरी करने वाले युवाओं के नाम नये वोटर के रूप में दर्ज कर रहे हैं, साथ ही इन पांच वर्षों में मृत या दूसरे राज्य में स्थानांतरित हो गये वोटरों के नाम काट भी रहे हैं।

इन बीएलओ के लिए ई-बीएलओ एप भी लांच कर दिया गया है। इस एप पर बीएलओ को राज्य निर्वाचन आयोग से मिलने वाले आदेश निर्देश की सारी जानकारी होगी। राज्य निर्वाचन आयोग को सभी जिलों में तैनात बीएलओ के मोबाईल नम्बर का डाटा भेजा गया है। बीएलओ को अपने मोबाईल फोन के प्ले स्टोर में जाकर यह मोबाईल एप डाउनलोड करने के लिए ओटीपी लेना होगा। ग्रामीण क्षेत्र की आम जनता अपने बीएलओ की जानकारी राज्य निर्वाचन आयोग की वेबसाइट www.sec.nic.in पर जाकर बीएलओ सर्च से प्राप्त कर सकते हैं। 2015 के पंचायत चुनाव में कुल  11 करोड़ 70 लाख वोटर थे। इस बार उम्मीद की जा रही है कि करीब  13 करोड़ हो जाएंगे। 

Guruji Portal: Hindi Notes| Free Exam Notes |GS Notes| Quiz| Books and lots more