07 October 2020

विश्वविद्यालयों में प्रवेश के लिए अब एक परीक्षा, शिक्षा मंत्रालय ने नेशनल टेस्टिंग एजेंसी को सौंपा जिम्मा

नई दिल्ली: इंजीनियरिंग और मेडिकल कॉलेजों में प्रवेश के लिए आयोजित होने वाली जेईई और नीट जैसी परीक्षाओं की तर्ज पर अब विश्वविद्यालयों में स्नातक के गैर तकनीकी पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए कॉमन एंट्रेस टेस्ट (सीईटी) होगा। इसकी शुरुआत अगले साल यानी शैक्षणिक सत्र 2021-22 से होगी। हालांकि, शुरू में इनमें सिर्फ केंद्रीय विश्वविद्यालयों को ही शामिल किया जाएगा। लेकिन, आने वाले वर्षो में इनमें सभी विश्वविद्यालयों व कॉलेजों को शामिल किया जाएगा।


शिक्षा मंत्रलय ने इन परीक्षाओं को कराने का जिम्मा नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) को दिया है। राष्ट्रीय शिक्षा नीति में विश्वविद्यालयों में प्रवेश के लिए कॉमन एंट्रेस टेस्ट (सीईटी) की सिफारिश करने के बाद शिक्षा मंत्रलय ने इस दिशा में कदम बढ़ाया है। वैसे भी मंत्रलय इन दिनों नीति के सुझावों को तेजी से आगे बढ़ाने में जुटा हुआ है।

एनटीए से जुड़े अधिकारियों के मुताबिक योजना पर तेजी से काम चल रहा है। राज्यों के साथ भी चर्चा की जा रही है। सूत्रों की मानें तो एनटीए की ओर से कॉमन एंट्रेस टेस्ट शुरू होने के बाद सभी उच्च शिक्षण संस्थानों को इसमें शामिल होने का प्रस्ताव दिया जाएगा। केंद्रीय विश्वविद्यालयों में प्रवेश के लिए संयुक्त परीक्षा की योजना वैसे पुरानी है।

’>>शिक्षा मंत्रलय ने नेशनल टेस्टिंग एजेंसी को सौंपा जिम्मा

’>>स्नातक के गैर तकनीकी पाठ्यक्रमों में प्रवेश की बदलेगी व्यवस्था

Guruji Portal: Hindi Notes| Free Exam Notes |GS Notes| Quiz| Books and lots more