14 November 2020

एलटी ग्रेड भर्ती परीक्षा-2018 में चयनित उम्र की राह में फिसले, तय आयुसीमा को पार कर चुके हैं करीब 250 चयनित शिक्षक

प्रयागराज : पहले रिजल्ट के लिए संघर्ष किया। रिजल्ट निकला, भर्ती में चयन भी हो गया। लेकिन, उम्र अधिक होने पर नियुक्ति फंस गयी। अब नियुक्ति मिलेगी अथवा नहीं। वह तय नहीं है। यह स्थिति एलटी ग्रेड भर्ती परीक्षा-2018 के अभ्यर्थियों की है। उक्त भर्ती में 15 विषयों में सामान्य वर्ग के करीब 245 चयनित ऐसे हैं जिनकी उम्र 40 साल से अधिक हो चुकी है। आयुसीमा अधिक होने पर उनकी नियुक्ति की प्रक्रिया रोक दी गई है। चयनितों ने इलाहाबाद हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की है। कोर्ट का अंतिम निर्णय चयनितों का भविष्य तय करेगा।


2016 में तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने मेरिट के आधार पर 9300 पदों की एलटी ग्रेड शिक्षक की भर्ती निकाली थी। अभ्यर्थियों से आवेदन ले लिया गया था। लेकिन, 2017 में सूबे की सत्ता बदल गई। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पदों की संख्या बढ़ाकर 10786 कर दिया। साथ ही उत्तर प्रदेश लोकसेवा आयोग को लिखित परीक्षा के आधार पर भर्ती का जिम्मा दिया। इसका विज्ञापन 15 मार्च 2018 को जारी करके नए सिरे से आवेदन लिया गया। इसके कारण 2016 में सामान्य वर्ग के जो अभ्यर्थी 39 साल के थे, उनकी उम्र 2018 में 41 वर्ष हो गई। आयोग ने ऐसे अभ्यर्थियों का आवेदन अस्वीकार कर दिया। इस पर अभ्यर्थियों ने हाईकोर्ट में याचिका दाखिल करके बताया कि 2016 की भर्ती पर दोबारा आवेदन लेना अनुचित है। वे एक बार उक्त भर्ती में आवेदन कर चुके हैं। इस पर कोर्ट ने आयोग को उनका आवेदन स्वीकार करने का निर्देश दिया। उस समय अभ्यर्थियों का आवेदन स्वीकार हो गया। परीक्षा में बैठने के बाद उनका चयन भी हो गया। लेकिन, अब उनकी नियुक्ति फंसी है।

आयोग के सचिव जगदीश का कहना है कि आयुसीमा पार कर चुके चयनितों के पक्ष में कोर्ट का फैसला आएगा तभी उन्हें नियुक्ति दी जाएगी। वहीं, प्रतियोगी मोर्चा के संयोजक विक्की खान का कहना है कि सरकार की ओर से बार-बार निर्णय बदलने के कारण अभ्यर्थियों की उम्र अधिक हुई है।

Guruji Portal: Hindi Notes| Free Exam Notes |GS Notes| Quiz| Books and lots more