15 November 2020

दिवाली बीती, अब कई राज्यों में खुलेंगे स्कूल, जानिए अलग-अलग राज्यों की SOP:- यूपी में कक्षा 9 से 12 खुले - कक्षा 1 से 8 पर अभी कोई निर्णय नहीं


कोरोना काल में लॉकडाउन के कारण सात महीने से भी ज्यादा समय से स्कूल बंद हैं. सरकार की अनलॉक प्रक्र‍िया के दौरान 15 अक्टूबर से कई राज्यों में स्कूल खुल गए हैं. इसके लिए सरकार के निर्देश के अनुसार राज्यों ने अपने राज्य में अलग अलग एसओपी तैयार की है. वहीं दीवाली के बाद भी कई राज्य स्कूल खोल रहे हैं. 

जानें- अपने राज्य का स्टेटस.


यूपी-बिहार, झारखंड आदि राज्यों ने स्कूल खोल दिए हैं। अभी 9 से 12 तक के लिए ही ओपन हुए हैं। 1 से 8 तक के स्कूलों को खोलने की SOP तैयार हो रही है। फिलहाल शासन स्तर पर अभी कोई अंतिम निर्णय नहीं हुआ है।

लेकिन कुछ राज्यों में अभी भी स्कूल बंद हैं. महाराष्ट्र सरकार ने भी दिवाली के बाद स्कूल खोलने का फैसला लिया है. सूबे के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने इस संबंध में कहा है कि हम सभी एहतियाती कदम उठाते हुए दिवाली के बाद स्कूलों को फिर से खोलने पर विचार कर रहे हैं. इसके लिए राज्य सरकार ने स्कूलों के लिए एसओपी तैयार की है. इसके अनुसार स्कूलों में शिफ्ट के हिसाब से पढ़ाई होगी.


अगर राजधानी दिल्ली की बात करें तो यहां कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ रहे हैं. राज्य में नागरिकों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए सरकार ने अगले आदेश तक स्कूल बंद रखने का निर्णय लिया है. सरकार ने कहा है कि वो पेरेंट्स, स्टूडेंट्स, स्कूल और डॉक्टरों आदि से राय लेकर ही अपनी एसओपी तैयार करने के बाद स्कूल खोलेंगे.


असम में दो नवंबर से केवल कक्षा 6 वीं से 12 वीं तक के छात्रों को स्कूल आने की अनुमति दी गई थी. साथ ही राज्य ने स्कूलों के लिए एक मानक संचालन प्रक्रिया (SOP) जारी की. असम में स्कूलों के लिए ऑड इवन की व्यवस्था लागू की गई है. यहां कक्षा 6, 8 और 12 के छात्र सोमवार, बुधवार और शुक्रवार को स्कूल में आएंगे, जबकि अन्य तीन दिन कक्षा 7, 9 और 11 के छात्र आएंगे.

आंध्र प्रदेश में दो नवंबर से स्कूल चरणबद्ध तरीके से फिर से खोले गए. कोविड -19 प्रोटोकॉल का पालन करने के लिए दिन-प्रतिदिन के कार्यक्रम से लेकर मिड डे मील में भी बदलाव किया गया है. यहां सरकार की मानक संचालन प्रक्रिया (SOP) के अनुपालन में एक सुरक्षित वातावरण सुनिश्चित करने के लिए सभी सावधानी बरत रहे हैं. आंध्र प्रदेश में कक्षाएं सुबह 9:15 बजे से दोपहर 1:45 बजे तक लगने का प्रावधान किया गया. प्रत्येक कक्षा में सोशल डिस्टेंस का पालन के साथ कक्षाओं में केवल 16 छात्र बैठने की व्यवस्था है. इसे देखते हुए शैक्षणिक वर्ष को 30 अप्रैल तक बढ़ा दिया गया है. अधिकारियों ने कहा कि आंध्र प्रदेश में कक्षा 9 और 10 के छात्र सोमवार से वैकल्पिक दिनों में स्कूल जाना शुरू कर सकते हैं.

अरुणाचल प्रदेश और तमिलनाडु में 16 नवंबर यानी दिवाली के बाद से स्कूल खुल जाएंगे. अरुणाचल प्रदेश में जहां 10वीं से 12वीं तक के छात्रों के लिए दिवाली के बाद स्कूल खुलेंगे. वहीं, तमिलनाडु में 9वीं से 12वीं तक के छात्रों के लिए क्लास चलाने का निर्णय सरकार की ओर से किया गया है. इन दोनों राज्यों में स्कूल जाने वाले छात्रों के लिए मास्क लगाना जरूरी है.

गोवा में 10वीं से 12वीं कक्षा तक के छात्रों के लिए स्कूल 21 नवंबर से खुल जाएंगे. सभी स्कूलों को कोरोना गाइडलाइंस का पालन करना जरूरी है. राज्य सरकार इस संबंध में जल्द ही गाइडलाइंस जारी करेगी. वहीं हरियाणा में भी 16 नवंबर से राज्य के सभी स्कूल, कॉलेज और यूनिवर्सिटी खुल जाएंगे. इन राज्यों में राज्य सरकार ने स्कूलों के लिए एसओपी तैयार की है.

पश्चिम बंगाल सरकार ने फिलहाल स्कूल न खोलने का फैसला किया है. ममता सरकार ने कोरोना महामारी के बढ़ते मामलों को देखते हुए 30 नवंबर तक राज्य के सभी शिक्षण संस्थानों को बंद रखने का आदेश दिया है. यदि 30 नवंबर के बाद हालात सामान्य होंगे तो कोविड मामलों की समीक्षा के बाद सरकार 1 दिसंबर से स्कूल खोल सकती है.

हिमाचल प्रदेश सरकार ने 2 नवंबर से कक्षा 9 से 12 वीं के छात्रों के लिए नियमित आधार पर स्कूलों को फिर से खोलने का फैसला किया गया था. मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर की अध्यक्षता में राज्य मंत्रिमंडल की बैठक के दौरान ये निर्णय लिया गया है. स्कूल जाने के इच्छुक छात्रों के लिए माता-पिता की सहमति अनिवार्य होगी, हालांकि, उपस्थिति अनिवार्य नहीं होगी. इसके अलावा, राज्य के कॉलेज गृह मंत्रालय के एसओपी और गाइडलाइन का पालन करते हुए खुलेंगे. जो कि कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए फ‍िर से बंद कर द‍िए गए हैं.

Guruji Portal: Hindi Notes| Free Exam Notes |GS Notes| Quiz| Books and lots more