22 November 2020

UPSSSC : 40 हजार पदों पर "पेट" के जरिए भर्ती की तैयारी, दिसम्बर में रजिस्ट्रेशन, जनवरी 2021 से आवेदन का प्रस्ताव, मार्च,-अप्रैल के बीच होगी परीक्षा।

लखनऊ : प्रदेश में प्रारंभिक अर्हता परीक्षा (पेट) के जरिये अगले साल 40 हजार पदों पर भर्ती करने की तैयारी की जा रही है। 


उप्र अधीनस्थ सेवा चयन आयोग (यूपीएसएसएससी) इसके लिए दिसंबर के अंत तक अभ्यर्थियों का रजिस्ट्रेशन (केवाईसी) शुरू करने की योजना बना रहा है। पेट के लिए आवेदन जनवरी 2021 से लिए जा सकते हैं। लिखित परीक्षा मार्च अप्रैल में कराने का प्रस्ताव है।

आयोग के चेयरमैन प्रवीर कुमार ने बताया कि वर्तमान में आयोग के भर्ती विज्ञापन पर तय समय में आवेदन करना होता है। अगर अभ्यर्थी सफल नहीं हुआ तो उसे अन्य परीक्षा के लिए नए सिरे से आवेदन करना होता है। इससे अनावश्यक धन व समय की बर्बादी होती है। कई बार अलग अलग विज्ञापनों के लिए आवेदन में अंतर व त्रुटियां भी आ जाती है। इससे बचने व बार-बार आवेदन से बचाने के लिए केवाईसी प्रक्रिया शुरू की जा रही है। इसके तहत एक बार रजिस्ट्रेशन के बाद बार बार आवश्यक जानकारियां भरने और दस्तावेज अपलोड करने की समस्या खत्म हो जाएगी।






UPSSSC : भर्ती कार्यवाही बढ़ेगी आगे, "पेट" पर शुरू हुआ मंथन, हर वर्ष होगी प्रारम्भिक अर्हता परीक्षा।


▪️द्विस्तरीय परीक्षा प्रणाली में परसेंटाइल स्कोर के आधार पर होगी शॉर्टलिस्टिंग
▪️हर वर्ष होगी प्रारंभिक अर्हता परीक्षा, एक वर्ष के लिए ही मान्य रहेंगे अंक

 

लखनऊ : उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग | (यूपीएसएसएससी) की बहुप्रतीक्षित नई भर्ती कार्यवाही शुरू होने जा रही है। आयोग द्विस्तरीय परीक्षा प्रणाली ( पेट व मेन) के अंतर्गत भर्ती कार्यक्रम जल्द फाइनल करेगा।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मंजूरी के बाद शासन के कार्मिक विभाग ने आयोग की द्विस्तरीय परीक्षा प्रक्रिया को लेकर कई अहम व्यवस्था तय की है। आयोग चाहता 1. था कि प्रारंभिक अर्हता परीक्षा (पेट) के स्कोर तीन वर्ष के लिए मान्य हों, लेकिन सरकार ने इसकी अनुमति नहीं दी। सरकार ने कहा है कि पेट का आयोजन हर वर्ष होगा और उसमें प्राप्त अंक केवल एक वर्ष के लिए मान्य होंगे। आयोग पेट के नतीजे परसेंटाइल स्कोर के आधार पर घोषित करेगा। इसी स्कोर के आधार पर मुख्य परीक्षा के लिए आवेदनकर्ताओं की शॉर्टलिस्टिंग की जाएगी। आयोग ने प्रारंभिक परीक्षा की योजना पर काम शुरू कर दिया है।

आगामी पेट में प्राप्त अंक अगले  एक वर्ष अथवा केंद्र सरकार द्वारा भविष्य में आयोजित की जाने वाली परीक्षा में प्राप्त अंक, जो भी पहले हो तक के लिए मान्य होंगे।

राष्ट्रीय भर्ती संस्था (एनआरए) के गठन के बाद आयोग की ओर से मुख्य परीक्षाओं के लिए अभ्यर्थियों की शार्ट लिस्टिंग में एनआरए के सामान्य अर्हता परीक्षा (सीईटी) के स्कोर का ही उपयोग किया जाएगा।

आयोग विभिन्न विभागों के बीच आवश्यकताओं व संगत सेवा नियमावली के प्रावधानों के अंतर्गत पेट के आधार पर परसेंटाइल फॉर्मूले पर शॉर्टलिस्ट किए गए अभ्यर्थियों के लिए मुख्य परीक्षा, कौशल परीक्षा व शारीरिक परीक्षा का आयोजन करेगा।


Guruji Portal: Hindi Notes| Free Exam Notes |GS Notes| Quiz| Books and lots more