पुरानी पेंशन बहाली की उठी मांग, पेंशन कर्मचारियों का अधिकार

प्रयागराज : पेंशनर्स दिवस पर गुरुवार को पुरानी पेंशन प्रणाली बहाल करने की मांग उठी। उत्कृष्ट काम करने वाले बुजुर्गो को सम्मानित भी किया गया। साथ ही ज्ञापन भी सौंपा गया। पेंशनरों की समस्याओं के निस्तारण को लेकर मंथन भी किया गया।


समस्याओं को लेकर सौंपा ज्ञापन : कलेक्ट्रेट सभागार में एडीएम नगर की अध्यक्षता में हुई पेंशनर संगठनों की बैठक में पूर्व की भांति भुगतान करने, सभी बीमारियों के इलाज के लिए कैशलेस सुविधा देने की मांग की गऊ। साथ ही पुरानी पेंशन प्रणाली बहाल करने समेत 12 सूत्रीय मांगों को लेकर जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपा गया। बैठक में गवर्नमेंट पेंशनर्स वेलफेयर एसोसिएशन के अध्यक्ष और पूर्व आयुक्त आरएस वर्मा ने कहा कि कलेक्ट्रेट में पेंशनर कक्ष बनने के बाद भी कर्मचारियों को नहीं बैठाया जा रहा है। महामंत्री उमेश शर्मा, उपाध्यक्ष डॉ. सुधा प्रकाश, संयुक्त सचिव पीसी एल श्रीवास्तव, आरपी पांडेय, टीएन द्विवेदी, आरडी कुशवाहा, सुरेंद्र सिंह, आदि मौजूद रहे।

जागरूकता कार्यक्रम : भारत विकास परिषद की ओर से कोरल क्लब में कोरोना को लेकर जागरूकता अभियान चलाया गया। सभी को मास्क वितरण किया गया। जब तक दवाई नहीं तब तक ढिलाई नहीं का नारा भी लगाया गया। इसमें सुनील धवन, श्याम सुंदर पटेल, पीके सिन्हा, राजेश बहादुर सिंह, अमरनाथ सेठ, नरेंद्र शाहू, विनोद गोयल, ओम प्रकाश आदि मौजूद रहे।

समय से भुगतान की प्रक्रिया पूरी हो : कर्मचारी कल्याण समिति की ओर से नगर निगम परिसर में हुई बैठक में उपाध्यक्ष गो¨वद दास ने कहा कि सेवानिवृत्त कर्मचारियों का समय से भुगतान की प्रक्रिया पूरी न करना चिंता का विषय है। बैठक में रामचंद्र यादव, वेद प्रकाश पांडेय, जागेंद्र कुमार, छेदी लाल कनौजिया, बिशन लाल, मोती लाल आदि मौजूद रहे।


यूनाइटेड फोरम आफ पेंशनर्स एसोसिएशन के तत्वावधान में 33 पेंशनर्स संगठनों ने संयुक्त रूप से कोरल क्लब में पेंशनर्स दिवस मनाया। उत्कृष्ट काम करने वाले बुजुर्गो को सम्मानित भी किया गया। विशिष्ट अतिथि न्यायमूर्ति श्रीभगवान सिंह, न्यायमूर्ति कैप्टन डीपीएन सिंह ने दीप जलाकर शुभारंभ किया। न्यायामूर्ति श्रीभगवान ने कहा कि पेंशन कर्मचारी का अधिकार है। मुख्य अतिथि व सांसद केशरी देवी पटेल ने वचरुअल कार्यक्रम में शामिल होकर वरिष्ठजनों को शुभकामनाएं दी। संगठन सचिव श्यामसुंदर सिंह पटेल, डॉ. विनीत अग्रवाल, डॉ. राजीव श्रीवास्तव, डॉ. डीआर सिंह, अमित कुमार श्रीवास्तव, सुशील कुमार, शिवराम उपाध्याय, आरएस वर्मा, राजकुमार त्रिपाठी आदि मौजूद रहे।