फर्जी अभिलेखों पर नौकरी कर रहा सहायक अध्यापक बर्खास्त, तीन बार नोटिस देने के बाद भी नहीं मिला कोई जवाब

गाजीपुर। फर्जी अभिलेखों के आधार पर नौकरी कर रहे शिक्षकों को लेकर बेसिक शिक्षा विभाग गंभीर है। इंटर और टीईटी का फर्जी अंकपत्र लगाकर सहायक अध्यापक पद पर नौकरी कर रहे एक शिक्षक को शुक्रवार को जिला बेसिक शिक्षाधिकारी श्रवण कुमार गुप्ता ने बर्खास्त कर दिया। जबकि एक अन्य शिक्षक को नोटिस जारी की

गई है। जिला बेसिक शिक्षाधिकारी ने बताया कि शिक्षकों के प्रमाणपत्रों का सत्यापन कराया जा रहा है। इसी क्रम में रेवतीपुर उत्तरी पर कार्यरत सहायक अध्यापक का इंटर और टीईटी का अंकपत्र जाँच में फर्जी पाया गया। इसके बाद उनको तीन बार नोटिस दी गई लेकिन इसका उन्होंने संतोषजनक जवाब नहीं दिया। इसको गंभीरता से लेते हुए उन्होंने सहायक अध्यापक हवलदार यादव को बर्खास्त कर दिया। उन्होंने संबंधित विकासखंड के खंड शिक्षाधिकारी को उक्त अध्यापक के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराने का निर्देश दिया। इसके साथ ही उन्होंने वित्त एवं लेखाधिकारी को उससे वेतन की रिकवरी करने का भी निर्देश दिया। बीएसए ने बताया कि प्राथमिक विद्यालय जबुरना में कार्यरत अध्यापक को टेट फर्जी एवं इंटर में अधिक अंक पाने का प्रमाणपत्र प्रस्तुत करने पर नोटिस जारी की गई है। बेसिक शिक्षाधिकारी कौ इस कार्वाई से फर्जी अभिलेखों के आधार पर नौकरी कर रहे अध्यापकों में हड़कंप मचा हुआ है।


सेवा समाप्ति के लिए पत्र भेजा 
मनिहारी। क्षेत्र के महावीर इंटर कॉलेज मलिकपुरा में फर्जी डिग्री लगाकर नौकरी कर रहे सहायक अध्यापक शिवकुमार सिंह के विरुद्ध लगए गए आरोपों की जांच सही निकली। आरोप सिद्ध पाए जाने के बाद प्रबंध समिति द्वारा उनकी सेवा समाप्ति के लिए माध्यमिक शिक्षा ( सेवा चयन बोर्ड) को अनुमोदन के लिए पत्र प्रेषित किया है। यह जानकारी महावीर इंटर कॉलेज मलिकपुरा के प्रबंधक मनोज कुमार सिंह ने दी है।