69 फ़ीसदी अभिभावक चाहते हैं कि स्कूल अप्रैल 2021 या उसके बाद खुलने चाहिए।


कोविड-19 महामारी के फसाने के साथ ही देश में सबसे पहले स्कूल को बंद किया गया था और संभवत स्कूल ही होंगे जो सबसे बाद में खुलेंगे, स्कूल, कॉलेज और विश्वविद्यालय जैसी कई शैक्षणिक संस्थान देश में लॉकडाउन लगने से पहले ही बंद हो गए थे। इसके बाद से ही शिक्षा ऑनलाइन संसाधनों के भरोसे रही । सरकार ने स्कूलों को छोड़कर लगभग सभी क्षेत्रों से प्रतिबंधों को हटा लिया है। वैक्सीन आने के बाद कुछ राज्यों में स्कूल भी फिर से खुल रहे हैं। ऐसे में सामुदायिक इंटरनेट मीडिया प्लेटफॉर्म लोकल सर्कुल्स ने देश के 224 जिलों में बच्चों के माता-पिता से करीब 19000 प्रतिक्रिया ली। जिस में सामने आया कि 69 फ़ीसदी लोग चाहते हैं कि स्कूल अप्रैल 2021 या उसके बाद खुलने चाहिए।


अगले सत्र में स्कूल खोलने की मांग करने वाले अभिभावकों की संख्या 3 महीने में दोगुनी


इसी महीने से कर्नाटक, बिहार पांडुचेरी उत्तर प्रदेश मध्य प्रदेश महाराष्ट्र सहित अन्य राज्यों में स्कूलों को फिर से खुल रहे हैं। हालांकि फिलहाल बड़ी कक्षाओं के छात्रों को ही स्कूल बुलाया गया। आंध्र प्रदेश और हरियाणा सरकार ने जब स्कूल को फिर से खोलने की कोशिश की। तो सैकड़ों छात्र और शिक्षक सिर्फ सप्ताह भर में ही कोरोनावायरस संक्रमित हो गई।