बीईओ व सहायक अध्यापक ने मिलाया खाने में विषाक्त पदार्थ, प्रधानाध्यापक ने लगाया आरोप


सीतापुर। परसेंडी के प्राथमिक विद्यालय शेखवापुर के प्रधानाध्यापक रूप चन्द्र अवस्थी की शनिवार दोपहर भोजन के दौरान अचानक तबियत बिगड़ने के मामले में प्रधानाध्यापक ने सहायक अध्यापक पर भोजन में विषाक्त पदार्थ मिला कर खिलाने का आरोप लगाया है। प्रधानाध्यापक ने बीईओ के भी शामिल होने का आरोप लगाया है। तबियत बिगड़ने के बाद उसने बीएसए को भी मैसेज कर मामले की जानकारी दी थी।

प्रधानाध्यापक ने बताया कि गांव में भ्रमण कर लौट थे और विद्यालय में रखे टिफिन से भोजन रहे थे। थोड़ा ही भोजन कर पाए थे कि उनकी तबियत बिगड़ने लगी। उलटियां हुई और चक्कर आकर बेहोश हो गए। उन्होंने बताया। बीईओ उन्हें पांच महीने से लगातार हर रोज शाम 3 बजे बुलाते हैं और विभिन्न तरह से धमकाते हैं। उन्होंने ने यह भी बताया कि वह बीआरसी से चार साल पहले शेखवापुर विद्यालय में ट्रांसफर होकर आए थे। इस दौरान बस एक ही साल उनके पास चार्ज रहा। वर्तमान में भी उनके पास चार्ज नहीं है। प्रधानाध्यापक पद का अतिरिक्त चार्ज बीईओ ने सहायक अध्यापक को दे रखा है। उन्होंने ने आरोप लगाया कि कहा कि 18 महीने से एक दबंग व्यक्ति की पत्नी जो शिक्षामित्र स्कूल नहीं आ रही है और उसका मानदेय लगातार हर महीने भुगतान हो रहा है। जिसका प्रधानाध्यापक ने विरोध किया। इस कारण उनसे बीईओ प्रभारी प्रधानाध्यापक व शिक्षामित्र नाराज हैं। बीईओ अशोक यादव का कहना है कि रूप चन्द्र अवस्थी निलंबित थे। कुछ समय पहले ही बहाल हुए हैं तो चार्ज नहीं ले रहे हैं। इनका स्कूल में गांव में हर जगह विवाद है । वेतनवृद्धि भी रोंकी गयी थी। आईजीआरएस में भी इनकी कई शिकायतें हैं।