आकांक्षी जिलों में शिक्षकों के तबादले की हो रही तैयारी, बेसिक शिक्षा महानिदेशक ने कहा‚ प्रदेश सरकार कैबिनेट में प्रस्ताव लाकर शीघ्र तबादला नीति में करेगी बदलाव


बेसिक शिक्षा के ऐसे सहायक अध्यापकों के लिए खुशखबरी है जो कि आकांक्षी जिलों में लंबे समय से तैनात है लेकिन उनका तबादला नहीं हो पा रहा है।शासन उन जिलों में तैनात शिक्षक–शिक्षिकाओं को मनचाहे जिलों में तैनाती के लिए शीघ्र कैबिनेट से प्रस्ताव को मंजूरी दिलाने जा रही है जिससे कि शिक्षक–शिक्षिकाएं अपने मनचाहे जिलों में तैनाती पा सके।॥ यह बात बेसिक शिक्षा महानिदेशक विजय किरण आनंद ने शुक्रवार को कही।उन्होंने बताया कि आकांक्षी जिलों में चंदौली‚ सोनभद्र‚ सिद्धार्थनगर‚ चित्रकूट‚ फतेहपुर‚ बहराइच‚ गोण्ड़ा और बलराम जिला है।इन जिलों तैनात शिक्षक–शिक्षिकाओं का तबादला जल्द नहीं होता है।अंतर जनपदीय तबादले के दौरान जो शिक्षक ऐसे जिलों से हटे है उनकी संख्या बहुत कम है।इससे अधिकांश शिक्षक–शिक्षिकाओं का कई वर्षतक तबादला नहीं हो पाता है।तबादला न होने से सबसे ज्यादा महिलाएं प्रभावित होती है।बेसिक शिक्षा के महानिदेशक विजय किरण आनंद ने बताया कि तबादला नीति में बदलाव के बाद वहां के शिक्षक–शिक्षिकाओं को लाभ मिलेगा और वह अपने मनचाहे जिले में तबादला पा सकेंगे।



रिलीविंग‚ काउंसलिंग कार्यक्रम अगले हफ्तेः बेसिक शिक्षा महानिदेशक विजय किरण आनंद ने बताया कि बेसिक शिक्षा के जिन शिक्षक–शिक्षिकाओं के अंतर जनपदीय तबादले हुए है उनकी जिलों से रवानगी और तबादले वाले जिलों में तैनाती का शिडयूल (कार्यक्रम) अगले हफ्ते जारी होने जा रहा हैउसके बाद अंतर जिला तबादले वाले शिक्षकों को कार्य मुक्त करते हुए नये जिले में काउंसलिंग से नयी तैनाती दी जायेगी।शिक्षा महानिदेशक ने बताया कि शिक्षकों की नये प्राथमिक विद्यालयों में आनलाइन तैनाती की जायेगी। तैनाती के एक हफ्ते के भीतर तबादले वाले शिक्षकों को संबंधित विद्यालय में कार्यभार संभालना होगा जिससे कि शिक्षण कार्यप्रभावित न होने पाये।