म्यूच्यूअल अंतर्जनपदीय ट्रांसफर प्रक्रिया सामान्य के साथ-साथ न होने से अभ्यर्थी निराश, शासनादेश का अनुपालन न होने का लगाया आरोप


गतिमान अंतर्जनपदीय तबादला प्रक्रिया में म्यूच्यूअल ट्रांसफर की सूची जारी न करने से बेसिक शिक्षा परिषद पर शासनादेश की अनदेखी का आरोप लग रहा है। परिषद द्वारा सामान्य स्थानांतरण की सूची 31 दिसंबर को जारी कर दी गयी है जबकि 9000 से अधिक पारस्परिक स्थानांतरण की सूची अभी तक जारी नहीं की है। प्रमुख सचिव शासन रेणुका कुमार द्वारा 02 दिसंबर 2019 को जारी किये गये शासनादेश में स्पष्ट है कि सामान्य व पारस्परिक स्थानांतरण प्रक्रिया समानान्तर रूप से गतिमान रहेगी।
पारस्परिक स्थानांतरण सूची जारी न होने से शिक्षकों में निराशा का माहौल व्याप्त है। म्यूचुअल ट्रांसफर की सूची कब जारी होगी, इस संबंध में अधिकारियों ने चुप्पी साध ली है। पारस्परिक स्थानांतरण आवेदनकर्ताओं का कहना है कि सूची जारी ना करके सरकार उनकी अनदेखी कर रही है। आवेदनकर्ताओं में अधिकतर महिलाएं है जो दूर के जनपदों में सेवारत हैं। पारस्परिक स्थानांतरण सूची जारी करने के संबंध में जब माननीय बेसिक शिक्षा मंत्री श्री सतीश द्विवेदी जी से पूछा गया तो वो भी स्पष्ट उत्तर देने से बचते नजर आये। फिलहाल शिक्षक ट्विटर के माध्यम से सूची जारी करने का निवेदन कर रहे हैं। शिक्षकों का कहना है कि जल्द से जल्द म्यूच्यूअल की स्थानांतरण लिस्ट जारी करें तथा सामान्य ट्रांसफर के आवेदकों का म्यूच्यूअल आवेदकों के साथ ही कार्यमुक्त और जॉइन करने का आदेश निकाला जाय जिससे शासनादेश 02 दिसंबर 2019 के बिंदु 14 का उल्लंघन न हो।