परिषदीय स्कूलों के छात्रों को बिना परीक्षा पास करने की तैयारी, जानिए क्या बोले महानिदेशक

लखनऊ। बेसिक शिक्षा परिषद के स्कूलों में पढ़ रहे 1.60 करोड़ से अधिक विद्यार्थियों को लगातार दूसरे साल बिना परीक्षा के उत्तीर्ण करने को तैयारी है। विभाग बिना परीक्षा के बच्चों को पास करने पर मंथन कर रहा हैं। शैक्षिक सत्र 2019-20 में कोरोना संक्रमण के चलते सभी विद्यार्थियों को बिना परीक्षा के अगली कक्षा में प्रवेश दिया गया था। शैक्षिक सत्र 2020-21 में भी कोरोना संक्रमण के चलते नियमित कक्षाओं का संचालन नहीं हो पाया है। 




अब तक ऑनलाइन क्लास ही चल रहो हैं। अधिकारियों का मानना है कि शैक्षिक सत्र मार्च तक चलेगा। स्कूल जल्द नहीं खोले गए तो बच्चों की परीक्षा कराना संभव नहीं होगा। ग्रामीण क्षेत्रों के परिषदीय स्कूलों के बच्चों व निम्न आय वर्ग के बच्चों तक भी ऑनलाइन क्लास का लाभ नहीं पहुंच रहा है। ऐसे में स्कूल खुलने पर परीक्षा कराने पर वे बच्चे अच्छा प्रदर्शन नहीं कर सकेंगे। अधिकारियों का मानना है कि स्कूलों में बच्चों को परीक्षा के लिए बुलाने से संक्रमण का खतरा है। लिहाजा विभाग बच्चों को बिना परीक्षा के उत्तीर्ण करने पर विचार कर रहा है।

 
इस साल स्कूल नहीं खुले तो परीक्षा कराना संभव नहीं होगा। ऐसे में बच्चों को पिछले साल की तरह बिना परीक्षा के उत्तीर्ण किया जाएगा। शासन से इस संबंध में मार्गदर्शन लिया जाएगा। - 
विजय किरण आनंद, महानिदेशक स्कूल शिक्षा