अब नहीं मिलेगी कोई छूट, प्री-बोर्ड परीक्षा में बैठना होगा जरूरी

अब नहीं मिलेगी कोई छूट, प्री-बोर्ड परीक्षा में बैठना होगा जरूरी
लखनऊ। कोरोना काल में भले ही अनिवार्य उपस्थिति से छूट मिली है, लेकिन प्री-बोर्ड परीक्षा में छात्रों का बैठना जरूरी है। स्कूलों ने इसे लेकर निर्देश जारी कर दिए हैं। यूपी बोर्ड की प्री-बोर्ड परीक्षा 15 जनवरी से शुरू होगी। वहीं, सीबीएसई और आईसीएसई में कहीं प्री-बोर्ड परीक्षा शुरू हो गई है तो कहीं पर 15 से बाद यह शुरू होगी। उधर, सभी केंद्रीय विद्यालयों के छात्रों को इस बार एक जैसा प्रश्नपत्र दिया जा रहा है। इसे क्षेत्रीय स्तर पर तैयार किया गया है।

कोरोना काल में भले ही पढ़ाई ऑनलाइन तरीके से कराई गई हो, लेकिन कक्षा 10 और 12 के छात्रों की पढ़ाई को लेकर सभी बोर्ड और स्कूल गंभीरता दिखा रहे हैं। छात्रों की तैयारी के लिए विभिन्न कदम उठाए जा रहे हैं। साल भर की उपस्थिति से छात्रों को छोड़ दी गई है, लेकिन प्री-बोर्ड परीक्षा में उनका बैठना जरूरी कर दिया गया है। बोर्ड अधिकारियों की सहमति पर स्कूलों ने इसके निर्देश भी जारी कर दिए हैं। सभी बोर्ड कम से कम दो प्री-बोर्ड परीक्षाएं कराएंगे। सीबीएसई और आईसीएसई बोर्ड के स्कूल तीन प्री-बोर्ड परीक्षा कराएंगे। इस परीक्षा में छात्रों का बैठना इसलिए जरूरी किया गया है, ताकि मूल्यांकन के बाद उनका आकलन किया जा सके और बोर्ड परीक्षा की तैयारी कराई जा सके। स्कूल ऑफलाइन तरीके से प्री-बोर्ड परीक्षा कराने पर सहमत हैं। इससे पहले छमाही परीक्षा भी इसी तरह कराई गई थी, जिसमें करीब 90 प्रतिशत छात्रों की उपस्थिति दर्ज हुई थी।

सभी केंद्रीय विद्यालयों में एक जैसा प्रश्न पत्र
इस बार सभी केंद्रीय विद्यालयों की प्री-बोर्ड परीक्षा में छात्रों को एक जैसा प्रश्नपत्र दिया जा रहा है। यह क्षेत्रीय संभाग (लखनऊ संभाग) की ओर से तैयार किया गया है। केवी गोमती नगर के प्रधानाचार्य डॉ. सीबीपी वर्मा ने बताया कि केंद्रीय विद्यालयों में कक्षा 10 और 12 के छात्रों के लिए दूसरी प्री-बोर्ड परीक्षाएं शुरू हो गई हैं। इस बार क्षेत्रीय संभाग द्वारा प्रश्नपत्र तैयार करवाए गए हैं। लखनऊ संभाग में आने वाले सभी 55 केंद्रीय विद्यालयों के छात्रों को इस बार एक जैसा प्रश्नपत्र दिया जा रहा है। इससे छात्रों की रीक्षा में एकरूपता आएगी। छात्रों की कमियां पता चल सकेंगी और मूल्यांकन बाद उनकी तैयारी और अच्छे से हो पाएगी। उन्होंने बताया कि अभी बोर्ड परीक्षा में समय है। ऐसे में तीसरी प्री-बोर्ड परीक्षा भी कराएंगे। बताया कि छात्रों को प्री-बोर्ड परीक्षा को गंभीरता से लेने और शामिल होने का निर्देश दिया गया है। यदि कोई छात्र बीमारी की वजह से अनुपस्थित रहता है तो उसे छूट दी जाएगी।
15 से यूपी बोर्ड की पहली प्री-बोर्ड परीक्षा
यूपी बोर्ड के स्कूलों में 15 जनवरी से पहली प्री-बोर्ड परीक्षा होगी। जिला विद्यालय निरीक्षक ने सभी स्कूलों को निर्देश जारी करते हुए उनसे प्री-बोर्ड परीक्षा कराने की समयसारणी भी मांगी है। कई स्कूल 15 जनवरी से तो कई गणतंत्र दिवस के बाद प्री-बोर्ड परीक्षा कराएंगे। डीआईओएस डॉ. मुकेश कुमार सिंह ने बताया कि दूसरी प्री-बोर्ड परीक्षा मार्च में होगी। स्कूलों को निर्देश है कि छात्रों को प्री-बोर्ड परीक्षा में शामिल करें और मूल्यांकन कर उनकी बोर्ड परीक्षा की तैयारी करवाएं।
...ताकि हो सके बोर्ड परीक्षा की तरह अनुभव
सीबीएसई और आईसीएसई बोर्ड के स्कूलों ने भी छात्रों व उनके अभिभावकों को प्री-बोर्ड परीक्षा को गंभीरता से लेने के लिए कहा है। अनएडेड प्राइवेट स्कूल्स एसोसिएशन के अध्यक्ष अनिल अग्रवाल ने बताया कि स्कूलों के बीच प्री-बोर्ड परीक्षाएं ऑफलाइन कराने पर सहमति बनी है, ताकि छात्रों को बोर्ड परीक्षा की तरह अनुभव हो सके। इसके लिए सभी छात्रों को परीक्षा में बैठने का निर्देश दिया गया है।