सदन में उठेगा शिक्षकों के पद कम करने का मुद्दा

प्रयागराज। माध्यमिक स्कूलों में शिक्षकों के पद लगातार कम किए जा रहे हैं। वहीं, माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड भी शिक्षक भर्ती में विलंब कर रहे है। नियुक्ति प्रक्रिया लंबे समय से अटकी हुई है। यह मुद्दा अब सदन में उठेगा। यह बात एमएलसी सुरेश कुमार त्रिपाठी ने रविवार को एक होटल में आयोजित शिक्षक संघ की बैठक में कही।

शिक्षक दल का नेता बनने के बाद शिक्षक संघ के साथ पहली बार बैठक कर रहे एमएलसी सुरेश कुमार त्रिपाठी ने शिक्षकों से उनके शैक्षिक प्रमाणपत्रों के सत्यापन के लिए शुल्क लिए जाने पर कड़ी आपत्ति जताई। कहा हय कार्य विभाग का है, वह अपने स्तर पर सत्यापन कराए। कहा कि यह मुद्दा भी सदन में उठाएंगे। कोरोना काल में तमाम वित्त विहीन विद्यालयों के शिक्षकों के समक्ष भी आर्थिक संकट खड़ा हो गया है। शुल्क न मिलने से स्कूल प्रबंधन ने वेतन नहीं दिया। अब समान कार्य का समान वेतन देने की मांग सदन में उठेगी। पुरानी पेंशन योजना को भी बहाल कराने के लिए भी संघर्ष होगा।

उन्होंने बताया कि प्रदेश भर के शिक्षक 16 जनवरी को अवकाश पर रहेंगे और अपने जनपद में सुबह 11 से शाम चार बजे तक उपवास पर रहते हुए धरना देंगे। शिक्षकों की समस्याओं को लेकर डीआईओएस के माध्यम से मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन भी प्रेषित किया जाएगा। वहीं, एक फरवरी को प्रत्येक विद्यालय से एक-एक शिक्षक लखनऊ स्थित ाश्क्षिा निदेशक के शिविर कार्यालय में इकट्ठा होंगे और उपवास पर रहकर धरना देंगे। बैठक में जिला अध्यक्ष राम प्रकाश पांडेय, जिला मंत्री अनुज कुमार पांडेय, कुंज बिहारी मिश्र, रामसेवक त्रिपाठी, जगदीश प्रसाद आदि शामिल हुए।
एमएलसी चुनाव में बेसिक शिक्षकों को बनाएं वोटर
प्रयागराज। अटेवा पेंशन बचाओ मंच की रविवार को चांदपुर सलोरी में हुई बैठक में मांग उठी कि एमएलसी चुनाव में बेसिक शिक्षकों को भी मतदाता बनाए जाए। अटेवा के प्रदेश उपाध्यक्ष डॉ. हरि प्रकाश यादव ने कहा कि अटेव का संघर्ष तब तक जारी रहेगा, जब तक पुरानी पेंशन बहाल नहीं हो जाती। इस दौरान विजय यादव का टीजीटी संस्कृत में चयन होने पर स्वागत किया गया। बैठक में प्रवेश प्रवक्ता उपेंद्र वर्मा, मंडल अध्यक्ष सुधीर गुप्ता, सुरेंद्र प्रताप सिंह, संतलाल वर्मा, अनिल भारती, अरुण कुमार सिंह आदि शामिल रहे। संचालन जिला महामंत्री कमल सिंह ने किया।