अब कक्षा 1 से लेकर 12 तक के शिक्षक बनने के लिए टेट(TET/CTET) अनिवार्य

  • अब शिक्षक बनने के लिए पास करनी होगी टेट परीक्षा
  • एनसीटीई ने सभी राज्य और केंद्र शासित प्रदेश को जारी किए आदेश


सरकारी स्कूलों (Govt Schools)में शिक्षकों की बहाली से पहले उनकी अर्हता तय करने के लिए ली जाने वाली टेट परीक्षा में सरकार बदलाव करने जा रही है। अब शिक्षक बनने के लिए टेट परीक्षा (TET) पास करना अनिवार्य होगा। एनसीटीई (NCTE)ने देश के सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को इस संबंध में आदेश जारी कर दिए हैं और कक्षा एक से 12वीं तक शिक्षक बनने के लिए अब टेट अनिवार्य कर दिया गया है। ये बदलाव राष्ट्रीय शिक्षा नीति के प्रावधानों के तहत किए जा रहे हैं और इसके साथ ही विभिन्न राज्यों में आयोजित होनेवाली इस परीक्षा में एकरूपता लाने का प्रयास किया जा रहा है। शिक्षक पात्रता परीक्षा में बदलाव को लेकर रूपरेखा तैयार करने की जिम्मेदारी संभाल रहे राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद ने इसे लेकर विभिन्न राज्यों से पूर्व में आयोजित शिक्षक पात्रता परीक्षा का पूरा ब्यौरा 15 फरवरी तक मांगा है।

इसके तहत इस परीक्षा में पूछे गए प्रश्नों के पैटर्न के अलावा परीक्षा में शामिल अभ्यर्थियों, सफल अभ्यर्थियों आदि की जानकारी निर्धारित प्रारूप के साथ ही परीक्षा को लेकर समय.समय पर राज्यों द्वारा उठाए गए विभिन्न मुद्दों के संबंध में भी जानकारी मांगी गई है। गौरतलब है कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति में शिक्षक प्रशिक्षण को सुदृढ़ करने पर विशेष जोर दिया गया है। राष्ट्रीय शिक्षा नीति के तहत यह परीक्षा अब माध्यमिक व उच्च माध्यमिक स्कूलों के शिक्षकों की नियुक्ति के लिए भी होनी है।