यूपी बोर्ड: आठ मंडलों में प्रायोगिक परीक्षा 13 से: परीक्षक सूची जल्द, पहले चरण के 10 मंडलों में इसी सप्ताह पूरा होगा इम्तिहान

प्रयागराज : यूपी बोर्ड की हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की प्रायोगिक परीक्षा का पहला चरण इसी सप्ताह पूरा हो रहा है। 13 फरवरी से आठ मंडलों में परीक्षा का दूसरा चरण शुरू होगा। बोर्ड अफसर आठ मंडलों के लिए परीक्षकों की सूची तैयार कर रहे हैं इसमें भी करीब सात हजार परीक्षक लगाए जा सकते हैं। यह परीक्षा 22 फरवरी को पूरी होगी।

बोर्ड सचिव ने 21 जनवरी को प्रायोगिक परीक्षा का कार्यक्रम जारी किया था। परीक्षाएं मंडलवार दो चरणों में सीसीटीवी कैमरे की निगरानी में कराई जा रही हैं। पहले चरण की परीक्षा 12 फरवरी को पूरी हो रही है। इंटरमीडिएट के लिए परीक्षक तैनात हुए हैं, हाईस्कूल में आंतरिक मूल्यांकन प्रधानाचार्य के माध्यम से कराया जा रहा है। यूपी बोर्ड के सचिव दिव्यकांत शुक्ल ने बताया कि दूसरे चरण के लिए परीक्षकों की सूची जल्द जारी किया जाएगा।


केंद्र निर्धारण की आपत्तियों को आज वेबसाइट पर करेंगे अपलोड : यूपी बोर्ड इन दिनों हाईस्कूल व इंटर परीक्षा 2021 के लिए केंद्र निर्धारण करा रहा है। जिला विद्यालय निरीक्षकों की ओर से प्रधानाचार्यो से प्राप्त आपत्तियों का परीक्षण कराकर अंतिम रूप से कार्यवाही की जानी है। इसे जिला समिति से अनुमोदित कराकर संस्तुति सहित परिषद की वेबसाइट पर नौ फरवरी तक अपलोड करना है। केंद्रों की अंतिम सूची 22 फरवरी को ही जारी होगी।

दूसरा चरण : 13 फरवरी से 22 फरवरी तक, अलीगढ़, मेरठ, मुरादाबाद, कानपुर, प्रयागराज, मीरजापुर, वाराणसी व गोरखपुर में।

जासं, प्रयागराज : कोविड-19 की रफ्तार कम हो चुकी है। स्कूल कालेजों में पढ़ाई को पटरी पर लाने की कोशिश है। शासन की तरफ से स्कूलों को खोलने के निर्देश जारी हो चुके हैं। अधिकांश माता-पिता अपने बच्चों को नए सत्र से विद्यालय भेजना चाहते हैं।

पतंजलि ऋषिकुल के प्रधानाचार्य नित्यानंद सिंह ने बताया कि अभिभावकों को संदेश भेजा है। उम्मीद है कि जल्द ही सहमतिपत्र मिल जाएंगे । गंगा गुरुकुलम की प्रधानाचार्य अल्पना डे ने बताया कि विद्यालय खोलने की तैयारी पूरी हो चुकी है। कोविड-19 से बचाव के सभी उपाय किए गए हैं। टैगोर पब्लिक स्कूल की प्रधानाचार्य अर्चना तिवारी ने बताया कि अभी अभिभावकों की तरफ से कोई जवाब नहीं मिला है। बीएचएस से सीबी ल्यूक ने बताया कि शासन के निर्देश के अनुसार स्कूल खोले जाएंगे। अब तक कक्षा नौ से 12वीं तक के विद्यार्थियों की कक्षाएं चल रही थीं।