लिपिक और सहायक के 1424 पदों पर भर्ती के लिए जारी विज्ञापन रद्द, नए सिरे से जारी होगा विज्ञापन


लखनऊ। बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार विभाग में कनिष्ठ लिपिक व सहायक के 1424 पदों पर भर्ती के लिए तीन चरणों में जारी विज्ञापनों को निरस्त कर दिया गया है। विभाग के तीन अलग अलग अधियाचन पर उप्र अधीनस्थ सेवा चयन आयोग (यूपीएसएसएससी) ने वर्ष 2006, 2009 और 2011 में विज्ञापन जारी किया था मगर तकनीकी कारणों से भर्ती प्रक्रिया शुरू नहीं हो पाई थी। इन पदों पर भर्ती के लिए जिन्होंने आवेदन किया है, वे अभ्यर्थी 15 फरवरी से अगले 60 दिन के भीतर शुल्क वापस ले सकते हैं। यह जानकारी बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार (आईसीडीएस) निदेशक डॉ. सारिका मोहन ने दी है। उन्होंने कहा कि जल्द नए सिरे से विज्ञापन जारी किया जाएगा।


उन्होंने बताया कि निदेशालय ने आयोग को कनिष्ठ लिपिकों के 780 पदों पर सीधी भर्ती के अधियाचन भेजा था। इसके सापेक्ष आयोग ने पहली बार वर्ष 2006 में 455 पदों पर भर्ती के लिए विज्ञापन जारी किया था। इनमें 100 पद अनुसूचित जनजाति, 125 पद अन्य पिछड़ा वर्ग व 214 पद सामान्य के लिए थे। लेकिन भर्ती प्रक्रिया शुरू होने से पहले ही आयोग भंग हो गया था। इस वजह से भर्ती के प्रस्ताव को विभाग को आगे की कार्यवाही के लिए लौटा दिया गया था इसी तरह वर्ष 2009 में आईसीडीएस ने 514 पद भरने के लिए विज्ञापन जारी किया। इसमें एससी के लिए 108, एसटी के 10, ओबीसी के 139 व सामान्य के 257 पद थे वहीं, वर्ष 2011 में भी 455 पदों के लिए विज्ञापन जारी किया गया था । इसमें एससी के 98, एसटी के 9 ओबीसी के 123 और सामान्य के 227 पद थे। लेकिन 15 मार्च 2012 को भर्तियों पर रोक लगाने की वजह से इस पर आगे की कार्रवाई नहीं हो सकी थी। निदेशक ने बताया कि अब चूंकि इस संवर्ग के पदों पर भर्ती के लिए आवश्यक अर्हता जैसे आयु व आरक्षण और चयन की प्रक्रिया पूरी तरह बदल चुकी है। इसके मद्देनजर पूर्व में जारी विज्ञापनों को रद्द कर दिया गया है।