50 फीसदी अभिभावकों ने बच्चों को स्कूल भेजने की दी सहमति

राजधानी में 50 फीसदी अभिभावकों ने कक्षा 6 से 8 तक के बच्चों की ऑफलाइन पढ़ाई की अनुमति दे दी है। यह दावा किया है निजी स्कूलों ने।

उनका कहना है कि पढ़ाई दोबारा ऑफलाइन शुरू करने को लेकर सहमति पत्र आने शुरू हो गए हैं। कोई व्हाट्सएप से सहमति दे रहा है तो कोई स्कूल के एप पर।

कई अभिभावक अभी इंतजार करने के मूड में है। 10 फरवरी से पढ़ाई शुरू हो जाएगी। मालूम हो कि कक्षा 9 से 12 तक के छात्रों की पढ़ाई पहले से ही ऑफलाइन चल रही है।
अनएडेड प्राइवेट स्कूल्स एसोसिएशन के अध्यक्ष अनिल अग्रवाल ने बताया कि स्कूलों में 50 फीसदी अभिभावकों की सहमति आ गई है।
सेंट जोसेफ इंटर कॉलेज में पेरेंट्स टीचर्स मीटिंग के बाद करीब 60 प्रतिशत अभिभावकों ने सहमति दी है। अवध कॉलेजिएट के प्रबंधक सर्वजीत सिंह ने बताया कि उनके यहां 40 प्रतिशत अभिभावक सहमती दे चुके हैं।

लखनऊ पब्लिक स्कूल्स एंड कॉलेजेस के संस्थापक प्रबंधक डॉ. एसपी सिंह ने बताया कि उनके यहां सभी शाखा में करीब 50 फीसदी तक की सहमती मिल गई है।
सिटी मोंटेसरी स्कूल के सभी शाखाओं में 40 से 50 फीसदी अभिभावकों ने सहमति दी है। जीडी गोयनका पब्लिक स्कूल के चेयरमैन सर्वेश गोयल ने बताया कि वे इस हफ्ते सभी अभिभावकों के साथ बैठक करेंगे।
इसके बाद कक्षाएं शुरू करेंगे। ब्राइटलैंड इंटर कॉलेज में अभिभावकों की सहमति 50 प्रतिशत से अधिक है।
दोनों मोड में चलेंगी कक्षाएं
अनिल अग्रवाल ने बताया कि 14 दिन तक बच्चों की रोज ऑफलाइन और ऑनलाइन कक्षाएं चलेंगी। स्थिति को देखते हुए बाद में कक्षा 9 से 12 की भांति रेगुलर किया जाएगा। अभी एक कक्षा में 24 बच्चों को बैठा कर पढ़ाएंगे। कक्षाएं तीन घंटे चलेंगी और लंच ब्रेक नहीं दिया जाएगा।