असम में अप्रैल से बंद होंगे सभी सरकारी मदरसे

: असम में सभी सरकारी मदरसों को आगामी एक अप्रैल से बंद किया जा रहा है। ऐसे 620 से अधिक संस्थानों को आम स्कूलों में बदल दिया जाएगा। राज्य सरकार ने अपने सेक्युलर स्वरूप के कारण धार्मिक शिक्षा के लिए आर्थिक सहायता देना बंद कर दिया है।


राज्य सरकार ने विगत 30 दिसंबर को विधानसभा में एक कानून पारित किया था जिसके तहत सरकारी खर्च से चलने वाले राज्य के सभी मदरसों को आम स्कूलों में बदलने का फैसला लिया गया था। इस फैसले पर अमल एक अप्रैल से होगा। असम के शिक्षा और वित्त मंत्री हेमंत बिस्वा सरमा ने बुधवार को कहा कि शिक्षा विभाग को असम के राज्यपाल जगदीश मुखी ने असम रिपीलिंग एक्ट-2020 को मंजूरी दे दी है। हालांकि राज्य सरकार को अभी निजी स्तर पर चल रहे सैकड़ों मदरसों पर कोई फैसला लेना बाकी है। सरमा ने ट्वीट करके कहा कि असम सरकार का यह फैसला ऐतिहासिक और प्रगतिशील है। मदरसा एजुकेशन प्रॉवैंशियलाइजेशन एक्ट, 1995 और असम मदरसा एजुकेशन एक्ट, 2018 को खत्म कर दिया गया है। अब सभी सरकारी मदरसे सामान्य स्कूलों की तरह ही संचालित होंगे।