9वीं से 12वीं तक के विद्यालय कल से पूरी क्षमता से खुलेंगे, वहीं 8वीं तक दो दिन जाना होगा स्कूल


लखनऊ। उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने माध्यमिक विद्यालयों में विद्यार्थियों, शिक्षकों और कर्मचारियों को खांसी, झुकाम, बुखार या कोरोना के अन्य लक्षण दिखते ही उनकी जांच और उपचार की व्यवस्था कराने के निर्देश दिए हैं। प्रदेश सरकार ने 9 फरवरी से यूपी बोर्ड सहित सभी शिक्षा बोर्ड से संबद्ध माध्यमिक विद्यालयों में कक्षा 9 से 12 का पूर्ण रूप से संचालन करने की अनुमति दी है। वहीं कक्षा 1 से आठ तक के सभी विद्यालयों में 50 फीसदी छात्र ही एक साथ हर रोज बुलाए जा सकेंगे।



उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने बताया कि 9 फरवरी से प्रदेश में सभी शिक्षा बोर्डों से संबद्ध कक्षा 9 से 12 तक के विद्यालयों, आवासीय विद्यालयों, जवाहर नवोदय विद्यालय, सैनिक स्कूल, राजकीय आश्रम पद्धति विद्यालय एवं अन्य आवासीय विद्यालयों में पठन पाठन शुरू किया जाएगा। उन्होंने बताया कि विद्यालय खोलने से पहले परिसर को पूरी तरह से सेनेटाइज़ किया जाएगा। विद्यालयों में सैनिटाइजर, हैंडवाश, थर्मल स्कैनिंग एवं प्राथमिक उपचार की व्यवस्था सुनिश्चित की जाएगी। यदि किसी विद्यार्थी, शिक्षक और कार्मिक को खांसी जुकाम या बुखार के लक्षण हो तो उन्हें आईसोलेट करते हुए उपचार की व्यवस्था की जाएगी। उन्होंने कहा कि छात्रावास में यदि कोई विद्यार्थी कोराना से संक्रमित हो जाता है तो उनके उपचार की व्यवस्था कर छात्रावास में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के प्रोटोकॉल का पालन किया जाएगा। सभी शिक्षकों, विद्यार्थियों तथा विद्यालय के अन्य कर्मचारियों को मास्क पहनना अनिवार्य होगा।

विद्यालय प्रबंधन द्वारा अतिरिक्त मात्रा में मास्क उपलब्ध कराने के साथ कोविड-19 संक्रमण से बचाव के लिए गाइडलाइन का भी पालन किया जाएगा।

बैठते समय छात्र-छात्राओं के बीच न्यूनतम 6 फिट की दूरी रहे। विद्यालय के गेट खुले रखे जाएं, ताकि एक जगह भीड़ न हो। अभिभावकों और विद्यार्थियों को जागरूक करने के लिए पब्लिक एड्रेस सिस्टम का उपयोग किया जाए। डिजिटल थर्मामीटर, सेनिटाइजर और साबुन आदि की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। परिवहन व्यवस्था प्रारंभ किए जाने से पहले सेनिटाइजेशन सुनिश्चित किया जाए। नोटिस बोर्ड पर कोविड नियमों का पालन के बाबत सूचना दी जाए।



कक्षा-1 से 8वीं तक 50% बच्चे ही बुलाए जा सकेंगे

8वीं तक दो दिन जाना होगा स्कूल

सरकार ने कक्षा-6 से 8 तक के विद्यार्थियों के लिए स्कूल 10 फरवरी से और कक्षा-1 से 5 तक की कक्षाओं के लिए एक मार्च से खोले जाने के आदेश दिए गए हैं। सोमवार व बृहस्पतिवार को कक्षा 1 व 5, मंगलवार व शुक्रवार को कक्षा-2 व 4, बुधवार व शनिवार को कक्षा-3 के विद्यार्थी बुलाए जाएंगे। इसी तरह से उच्च प्राथमिक 1. स्तर पर सोमवार व बृहस्पतिवार को कक्षा-6, मंगलवार व शुक्रवार को कक्षा-7 और बुधवार व शनिवार को कक्षा-8 के विद्यार्थी आएंगे। जिन कक्षाओं में विद्यार्थियों की संख्या अधिक है, वहां दो पालियों में कक्षाएं चलाई जाएंगी। इस संबंध में निर्णय प्रधानाध्यापक और विद्यालय प्रबंध समिति लेगी।