अंतर्जनपदीय तबादला:- बीएसए के आदेश में पत्रांक न होने से बीईओ परेशान, स्कूल आवंटन के पत्रों में पत्रांक गायब


दूसरे जिलों से तबादला पाकर अपने जिलों में पहुंचे शिक्षकों ने सोमवार को अपना अपना स्कूल ज्वॉइन कर लिया तो राजधानी करीब पौने चार सौ शिक्षकों की संख्या बढ़ गयी। राजधानी के ग्रामीण क्षेत्रों में अब शिक्षकों की कमी दूर हो जायेगी।


हालांकि इन शिक्षकों की तैनाती के लिए बीएसए कार्यालय से जारी पत्रों पर कोई पत्रांक संख्या नहीं है। ऐसे में बीईओ भी असमंजस की स्थिति में शिक्षकों को ज्वॉइन करवा रहे हैं, लेकिन अभी मानव संपदा पर डाटा फीडिंग में दिक्कत आयेगी। इस संबंध में राजधानी के बीईओ ने बताया कि शिक्षकों का स्कूल चयन होने के बाद जो बीएसए की ओर से पत्र भेजा जा रहा है उस पर कोई पत्रांक संख्या नहीं है। वहीं शिक्षक जब बीआरसी से चिट्ठी लेकर स्कूलों में पहुंच रहे हैं तो वहां पर भी प्रधानाध्यापक की ओर से पत्रांक संख्या पूछी जा रही है। हालांकि पत्रांक संख्या के लिए जगह छोड़कर शिक्षकों को ज्वॉइन कराया जा रहा है । इस बारे में बेसिक शिक्षा अधिकारी दिनेश कुमार का कहना है कि शिक्षकों का सारा डाटा ऑनलाइन पहले से ही फीड हो चुका है।