श्रमिकों के बच्चे भी करेंगे सीबीएसई की पढ़ाई: योगी

मुरादाबाद : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि श्रमिक राष्ट्र निर्माता हैं लेकिन, मजबूरीवश अपने परिवार को ही बना नहीं पाते। अब ऐसा नहीं होगा। जो राष्ट्र निर्माण करेगा, उसके बेहतर भविष्य के निर्माण की जिम्मेदारी सरकार की होगी। उनके बच्चे खानाबदोश जीवन न जीएं, इसके लिए सूबे के 18 मंडल मुख्यालय पर अटल आवासीय विद्यालय बनाने जा रहे हैं। यहां श्रमिकों के बेटे और बेटी सीबीएसई बोर्ड की आधुनिक शिक्षा प्राप्त कर पाएंगे। पढ़ा लिखाकर उनकी ऊर्जा का उपयोग राष्ट्र और समाज के निर्माण में लगाएंगे।


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सोमवार को श्रम विभाग की ओर से आयोजित मंडलीय सामूहिक विवाह समारोह में नवविवाहित जोड़ों को आशीर्वाद देने पहुंचे थे। बुद्धि विहार में 2,754 जोड़े विवाह बंधन में बंधे। मुख्यमंत्री ने संबोधन की शुरुआत दांपत्य सूत्र में बंध रहे वर-वधू को बधाई और शुभकामनाओं के साथ की। कहा कि भव्य आयोजन सामूहिकता की पहचान है। सामूहिकता की शक्ति है कि आपके विवाह में मुख्यमंत्री, श्रम विभाग, पंचायत राज मंत्री सहित सांसद, विधायक सहित जन प्रतिनिधि शामिल हो रहे हैं।

उन्होंने कोविड काल में केंद्र और प्रदेश सरकार के समन्वय से किए गए बेहतर कार्यो को गिनाया। कहा कि लॉकडाउन में श्रमिकों के सामने रोजगार के साथ ही खाने का संकट खड़ा हो गया तो सरकार ने उनका पेट भरा। एक-एक हजार रुपये की मदद की। कोई भूखा नहीं सोया। दुनिया जब कोविड से लड़ रही है, तब हमारे यहां टीकाकरण अभियान चल रहा है। हमारे वैज्ञानिकों ने दो-दो वैक्सीन तैयार कर ली हैं। यह सामूहिकता की शक्ति है।