परिषदीय अंग्रेजी स्कूलों में शिक्षक नहीं, सरकार ट्रेनिंग कराने को तैयार

परिषदीय अंग्रेजी स्कूलों में शिक्षकों की तैनाती पूरी तरह से हो नहीं सकी है और बेसिक शिक्षा विभाग सोमवार से उनका प्रशिक्षण भी शुरू कराने जा रहा है। प्रयागराज, लखनऊ, मथुरा, फतेहपुर व बदायूं समेत 13 जिलों में तकरीबन दो साल की कवायद के बावजूद अंग्रेजी में दक्ष शिक्षकों की तैनाती नहीं हो सकी है और वहां पहले से कार्यरत शिक्षक ही पढ़ा रहे हैं।


महानिदेशक स्कूली शिक्षा विजय किरन आनंद की ओर से एक फरवरी को जारी पत्र के अनुसार प्रत्येक स्कूल के दो-दो शिक्षकों को अंग्रेजी भाषा की प्रभावी कक्षा शिक्षण करने के लिए सरल तकनीकी पर क्षमता संवर्द्धन कराया जाएगा। 8 से 13 फरवरी तक प्रदेशभर के 5311 स्कूलों के 10622 शिक्षकों को ऑनलाइन प्रशिक्षण दिया जाना है। प्रयागराज के 110 स्कूलों के 220 शिक्षकों का प्रशिक्षण 9 फरवरी को प्रस्तावित है।
ऐसे में सवाल यह है कि जब स्कूलों में अंग्रेजी भाषा के शिक्षकों की तैनाती ही नहीं हो सकी तो ट्रेनिंग किसे दी जाएगी। अंग्रेजी स्कूलों में चयन के लिए आयोजित लिखित परीक्षा और साक्षात्कार में सम्मिलित शिक्षक डेढ़ साल से दौड़भाग कर रहे हैं। अफसरों के चक्कर लगाने के साथ हाईकोर्ट में याचिका तक की लेकिन अब तक तैनाती नहीं हो सकी है।

इनका कहना है
सरकार के आदेश के अनुसार अंग्रेजी माध्यम स्कूलों में पूर्व से कार्यरत शिक्षकों को ऑनलाइन प्रशिक्षण कराया जाएगा।
संजय कुमार कुशवाहा, बीएसए