परिषदीय विद्यालय के शिक्षक बृजेश ने बढ़ाया जिले का मान


आजमगढ़। परिषदीय विद्यालयों के शिक्षकों की निपुणता की परख के लिए बेसिक शिक्षा विभाग निरंतर प्रयासरत है। प्रदेश स्तरीय कहानी प्रतियोगिता में जिले के प्राथमिक विद्यालय टेउखर पल्हनी में कार्यरत शिक्षक बृजेश कुमार श्रीवास्तव का चयन किया गया है।


जिला स्तर पर हुई प्रतियोगिता में कड़ी प्रतिस्पर्धा के बाद इनका चयन राज्य स्तरीय प्रतियोगिता के लिए हुआ था। जिले के शिक्षक का प्रदेश स्तर पर चयन होने से महकमे के अफसर व शिक्षक खासे उत्साहित हैं। चयनित शिक्षक को डायट प्राचार्य व बीएसए की ओर से सम्मानित किया जाएगा।

बेसिक शिक्षा विभाग की ओर से चतुर्थ राज्य स्तरीय कहानी सुनाने की प्रतियोगिता आयोजित की गई थी। जिसमें 1857 से लेकर 1943 के बीच हुई घटनाओं की कहानी सुनाई जानी थी। पहले यह प्रतियोगिता जिला स्तर पर हुई। इसके बाद दो, तीन, चार, पांच व
आठ फरवरी को प्रदेश स्तर पर कराई गई। जिला स्तर पर आयोजित प्रतियोगिता में प्राथमिक के इंग्लिश मीडिएम विद्यालय टेउखर के प्रधानाध्यापक बृजेश कुमार श्रीवास्तव ने सरदार भगत सिंह की कहानी सुनाई। जिले में इन्हें प्रथम स्थान प्राप्त हुआ। इसके बाद इन्हें राज्य स्तर पर आयोजित प्रतियोगिता में बुलाया गया । जहां इन्होंने शेरे बलिया के नाम से विख्यात चित्तू पांडेय की कहानी सुनाई। प्रतियोगिता में निर्णायक मंडल के सदस्यों द्वारा प्रस्तुतीकरण, भाषा शैली, समय सीमा एवं सहायक सामग्री के आधार पर मूल्यांकन किया गया जिसके आधार पर बृजेश कुमार श्रीवास्तव का चयन किया गया। हालांकि सम्मानित करने की तिथि अभी नहीं घोषित की गई है। इसकी सूचना डायट प्राचार्य व बीएसए के माध्यम से दी जाएगी।