अजब-गजब: यूपी में प्राइमरी स्कूल खुले नहीं, प्री-प्राइमरी की कक्षाएं शुरू करने का आदेश

अजब-गजब आदेश से बाल विकास पुष्टाहार विभाग के कर्मचारी हैरान हैं। एक तरफ प्राइमरी स्कूल नहीं खोले गए हैं दूसरी तरफ आंगनबाड़ी में प्री-प्राइमरी की कक्षाएं शुरू करने के आदेश जारी हो गए हैं। तीन से छह वर्ष तक के बच्चों को केन्द्र बुला कर पढ़ाने के दिन तय कर दिए गए हैं। बाल विकास सेवा व पुष्टाहार विभाग की निदेशक डा. सारिका मोहन ने फरवरी व मार्च महीने की समयसारिणी जारी करते हुए इसके पालन के निर्देश दिए हैं।


बीते दिनों मुख्य सचिव ने आदेश जारी कर सभी आंगनबाड़ी केन्द्रों को खोलने के निर्देश दिए थे लेकिन उसमें साफ था कि 10 वर्ष से कम बच्चे, 65 र्ष से अधिक उम्र वाले बुजुर्ग नहीं बुलाए जा सकते। लेकिन डा. सारिका मोहन द्वारा जारी आदेश में प्री प्राइमरी की पढ़ाई करने के विस्तृत निर्देश जारी किए हैं कि कन्टेंमेंट जोन स्थित आंगनबाड़ी केन्द्रों को छोड़ कर बाकी केन्द्रों में पढ़ाई शुरू करवा दी जाए जबकि प्रदेश में अभी कक्षा 9 से ऊपर की कक्षाओं वाले विद्यार्थियों को ही स्कूल बुलाने की अनुमति दी गई है।

आंगनबाड़ी में इस सत्र से प्री प्राइमरी की पढ़ाई शुरू होनी है। समय सारिणी के मुताबिक तीन से पांच वर्ष तक के बच्चे गुरुवार व शनिवार, पांच से छह वर्ष तक के बच्चे सोमवार व शुक्रवार को आएंगे। इसी तरह मार्च में तीन से पांच वर्ष के बच्चे मंगलवार, गुरुवार व शनिवार और पांच से छह वर्ष के बच्चे सोमवार, बुधवार व शुक्रवार को केन्द्र पर आएंगे। वहीं उन बच्चों को आने की मनाही है जो बीमार या कुपोषित या फिर उनके घर में कोविड सकारात्मक सदस्य, 62 वर्ष की उम्र से अधिक वाले सदस्य होंगे।