सूबे के हर जिले में एक हजार विद्यार्थियों को सरकार दे सकती है टैबलेट, यह होंगे पात्र

प्रदेश सरकार हर जिले में कॉलेज में दाखिला लेने वाले एक हजार विद्यार्थियों को टैबलेट का तोहफा दे सकती है। इसके साथ भाजपा के लोक कल्याण संकल्प पत्र में किए वादे को चुनावी वर्ष में पूरा करने की तैयारी की है। विधानसभा चुनाव 2017 में भाजपा ने लोक कल्याण संकल्प पत्र में मुफ्त लैपटॉप और इंटरनेट योजना का वादा किया गया था।



इसमें प्रदेश के सभी युवाओं को कॉलेज में दाखिला लेने पर बिना जाति और धर्म के भेदभाव के मुफ्त लैपटॉप और स्वामी विवेकानंद युवा इंटरनेट योजना के तहत प्रति महीने एक जीबी इंटरनेट डाटा मुफ्त देने का वादा किया गया था। इसके बाद योगी सरकार के पहले बजट से ही इन वादों के पूरा होने का इंतजार किया जा रहा है। मगर, पिछले चार बजट में योगी सरकार ने मुफ्त लैपटॉप देने की घोषणा नहीं की। हालांकि सरकार ने यूपी बोर्ड की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट परीक्षा में प्रदेश और जिला स्तर के मेधावियों को टैबलेट देना शुरू किया है।


सूत्रों के मुताबिक सरकार अब संकल्प पत्र में किए गए वादे को पूरा करने के लिए हर जिले में कॉलेज में दाखिला लेने वाले एक हजार बच्चों को मुफ्त टैबलेट देने की योजना लेकर आने की तैयारी कर रही है। सरकार का विचार संकल्प पत्र में किए वादे के अनुरूप कॉलेज में दाखिला लेने वाले सभी विद्यार्थियों को टैबलेट देने का था, लेकिन कोरोना काल में बदली आर्थिक स्थितियों के चलते अभी हर जिले में एक हजार बच्चों को टैबलेट देने की योजना पर कवायद चल रही है।