डीएलएड परीक्षा में नकल करते पकड़े गए छह परीक्षार्थी को किया रस्टीकेट, पेपर लीक मामले में परीक्षा नियामक को सौंपी रिपोर्ट

बुधवार को परीक्षा से पहले प्रश्नपत्र लीक होने के बाद बृहस्पतिवार को बरती जा रही सख्ती के बाद भी डीएलएड चतुर्थ सेमेस्टर की परीक्षा में छह परीक्षार्थी नकल करते पकड़े गए। सभी को रस्टीकेट कर दिया गया। किसी के पास नकल की पर्ची मिली तो कोई प्रश्नों के उत्तर हाथ पर लिखकर बैठा था। परीक्षा में 77 परीक्षार्थी अनुपस्थित रहे। नकलचियों पर कार्रवाई से परीक्षा केंद्रों पर हड़कंप मचा रहा।  



डीएलएड चतुर्थ सेमेस्टर की परीक्षा के लिए शहर के केपी हिंदू इंटर कालेज, जीआईसी, जीजीआईसी, तिलक व पीबी इंटर कालेज को केंद्र बनाया गया है। बृहस्पतिवार को तीन पालियों में डीएलएड चतुर्थ सेमेस्टर की परीक्षा होनी थी। पहली पाली में सुबह 10 बजे से हिंदी की परीक्षा थी। परीक्षा केंद्रों पर परीक्षार्थियों की सघन तलाशी ली गई। कुल 2017 परीक्षार्थी पंजीकृत थे, जिसमें 27 अनुपस्थित रहे।


पहली पाली की परीक्षा शांतिपूर्ण रही। दूसरी पाली में अंग्रेजी की परीक्षा हुई। कुल 2023 परीक्षार्थी पंजीकृत थे। इस दौरान छह परीक्षार्थी नकल करते पकड़े गए। इसमें किसी के पास पर्ची थी तो कोई हाथ पर उत्तर लिखकर बैठा था। प्रधानाचार्य अनूप सिंह ने सभी को रस्टीकेट कर दिया। कुछ देर बाद उप शिक्षा निदेशक डायट मो. इब्राहिम निरीक्षण करने पहुंचे। तीसरी पाली की परीक्षा में 2020 परीक्षार्थी पंजीकृत थे। इसमें 27 परीक्षार्थी अनुपस्थित रहे। तीसरी पाली की परीक्षा शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न हुई। 
पेपर लीक मामले में परीक्षा नियामक को सौंपी रिपोर्ट
डीएलएड चतुर्थ सेमेस्टर की परीक्षा के दौरान पेपर लीक होने के मामले में उप शिक्षा निदेशक डायट मो. इब्राहिम ने सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी प्रयागराज को रिपोर्ट सौँपी है। उनका दावा है कि जिले में पेपर लीक नहीं हुआ है। अब देखना यह है कि उच्चाधिकारियों द्वारा इस मामले में क्या निर्णय लिया जाता है।