डीएलएड पर्चा लीक मामला: गिरफ्तार अभ्यर्थी को भेजा गया जेल, कई नाम आए सामने

प्रयागराज : डीएलएड (डिप्लोमा इन एलीमेंट्री एजूकेशन) 2018 के चतुर्थ सेमेस्टर की द्वितीय पाली की परीक्षा में गुरुवार को मोबाइल के साथ लीक प्रश्नपत्र संग पकड़े गए अभ्यर्थी को शुक्रवार को कर्नलगंज पुलिस ने जेल भेज दिया। इसके पहले उससे पूछताछ और उसके पास से बरामद मोबाइल से पुलिस को अहम जानकारियां मिली हैं। कई नाम सामने आए हैं, लेकिन पूरे रैकेट को पकड़ने के प्रयास में पुलिस ने किसी का नाम नहीं खोला। रैकेट को पकड़ने के लिए कड़ी से कड़ी जोड़ रही है। शुक्रवार को पुलिसने कई स्थानों पर दबिश भी दी।


राजकीय बालिका इंटर कालेज कटरा में द्वितीय पाली की परीक्षा शुरू होने से करीब आधे घंटे पहले केंद्र व्यवस्थापक ने परीक्षार्थी विवेक कुमार जायसवाल निवासी मिश्रपुर, थाना मेजा को पकड़ा था। उसके पास से बरामद मोबाइल में अंग्रेजी और हंिदूी का प्रश्नपत्र मिला था। प्रधानाचार्य ज्योत्सना सिंह ने उसके खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई थी। गुरुवार देर रात पुलिस ने उससे पूछताछ की कि उसे प्रश्नपत्र किसने भेजा था। किसे-किसे प्रश्नपत्र भेजा गया था। कितने रुपये उसने दिए थे। इस पूछताछ में उसने कई के नाम पुलिस को बताए। हालांकि, वह यह नहीं बता सका कि प्रश्नपत्र और किन-किन को भेजे गए हैं। पुलिस ने उसके मोबाइल को खंगाला और जिस नंबर से वाट्सएप के माध्यम से अंग्रेजी और हंिदूी का प्रश्नपत्र भेजा गया था, उस पर फोन लगाया तो वह स्विच्ड ऑफ था। इंस्पेक्टर कर्नलगंज विनीत सिंह ने बताया कि आरोपित विवेक को जेल भेज दिया गया है। जिस नंबर से प्रश्नपत्र वाट्सएप के माध्यम से भेजा गया था, उसके बारे में भी जानकारी हासिल की जा रही है। विवेक ने जो नाम बताए हैं, उनकी तलाश में टीमें लगी हैं।

’>>नकल माफिया के रैकेट तक पहुंचने के लिए कड़ी से कड़ी जोड़ रही पुलिस

’>>बरामद मोबाइल भी खंगाला गया, कई स्थानों पर दी गई दबिश

डीएलएड पर्चा लीक मामला

क्राइम ब्रांच भी लगी, सर्विलांस की भी मदद

मामले में क्राइम ब्रांच को भी राजफाश के लिए लगाया गया है। सर्विलांस की भी मदद ली जा रही है, ताकि उन नंबर को खंगाला जा सके, जिससे वाट्सएप के माध्यम से प्रश्न पत्र को भेजा गया था।